S M L

सीओए का निर्देश, तुरंत घोषित की जाए चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम

बीसीसीआई को लिखे पत्र में कहा, खिलाड़ियों के हित सबसे ऊपर, उनका ध्यान रखा जाए

Bhasha | Published On: May 04, 2017 07:01 PM IST | Updated On: May 04, 2017 07:01 PM IST

सीओए का निर्देश, तुरंत घोषित की जाए चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) ने गुरुवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से कहा कि वह जल्द से जल्द चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम की घोषणा करे. सीओए ने बोर्ड से कहा कि नए वित्तीय ढांचे को लेकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के साथ मतभेद के बावजूद टीम की घोषणा में विलंब नहीं होना चाहिए.

आईसीसी ने बीते सप्ताह अपने बोर्ड की बैठक में आय में बीसीसीआई के हिस्से को कम करने के लिए मतदान किया था. इससे नाराज बीसीसीआई ने 1 से 18 जून तक इंग्लैंड में होने वाली चैंपियंस ट्रॉफी से हाथ खींचने के विचार से अब तक टीम की घोषणा नहीं की है जबकि इसकी अंतिम तारीख बीत चुकी है.

सीओए ने कहा है कि नियामक संस्था के साथ मतभेद के बाद भी बीसीसीआई को खिलाड़ियों के हितों की आहत नहीं करना चाहिए, क्योंकि किसी बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा लेना उनका अधिकार है.

रविवार को होने वाली विशेष आम बैठक (एसजीएम) से पहले बीसीसआई के संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी को लिखे पत्र में सीओए ने चयन समिति की आपात बैठक बुलाने की मांग की और चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम घोषित करने को कहा. आईसीसी ने इस टूर्नामेंट के लिए टीम घोषित करने की अंतिम तारीख 25 अप्रैल तक की थी.

पत्र में कहा गया है, ‘आप इस बात से अवगत होंगे कि चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारत की टीम 25 अप्रैल तक चुन ली जानी चाहिए थी. लेकिन अब तक इसका चयन भी नहीं हुआ है. कृपया चयन समिति की बैठक बुलाएं और शीघ्र टीम का चयन करें. इसके बाद इस टीम की सूची बीसीसीआई के कानूनी अधिकारों से दूर रखते हुए आईसीसी को सौंपी जाए.’

सीओए ने आगे लिखा है कि भारत 1 जून से होने वाले इस टूर्नामेंट का खिताब बचाए, इसकी पूरी तैयारी होनी चाहिए. पत्र के मुताबिक, ‘चैंपियंस ट्रॉफी में भारत के प्रतिनिधित्व को लेकर काफी नकारात्मक बातें सामने आ चुकी हैं और इन पर जितनी जल्द रोक लगाई जाए, उतना ही अच्छा होगा. खिलाड़ियों के हित सबसे ऊपर हैं और इन्हें तैयारी करने तथा खिताब बचाने का पूरा अवसर मिलना चाहिए.’

पत्र के अनुसार, ‘हमारा ध्यान टीम को नई ऊंचाइयों के लिए तैयार करना चाहिए, जिससे कि वह अधिक से अधिक खिताब जीत सके. टीम जितने खिताब जीतेगी, बोर्ड की आय उतनी ही बढ़ेगी.’ साथ ही साथ सीओए ने भारतीय क्रिकेट में हित में जल्दी से जल्दी आईसीसी के साथ जारी मतभेदों को दूर करने की अपील की है।

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi