S M L

मदर्स डे: मां के ऊपर कहे गए ये शेर पढ़िए, दिल खुश हो जाएगा

मां के ऊपर गजल कहने की रवायत बहुत पुरानी नहीं है

Animesh Mukharjee | Published On: May 13, 2017 04:43 PM IST | Updated On: May 13, 2017 04:43 PM IST

मदर्स डे: मां के ऊपर कहे गए ये शेर पढ़िए, दिल खुश हो जाएगा

शेरों शायरी और गजल को लंबे समय तक माशूक की जुल्फों के पेंच-ओ-खम को सुलझाने की चीज माना गया. हिंदी सिनेमा के गीतकारों के पास भी कहानियों के लिहाज से ‘चंदा है तू, मेरा सूरज है तू’ जैसी लोरियों का स्कोप ज्यादा था.

मगर मजरूह सुल्तानपुरी जैसे कलमकारों ने 'ऐ मां तेरी सूरत से अलग भगवान की सूरत क्या होगी' जैसे कालजयी लिरिक्स भी लिखे.

मां के ऊपर गजल कहने की रवायत बहुत पुरानी नहीं है. मुनव्वर राणा जैसे शायर कहते हैं, ‘हम गजल को कोठे से मां तक खींच लाए हैं.’ इस मदर्स डे पर हमारी तरफ से पढ़िए मां के ऊपर कहे गए कुछ खूबसूरत शेर.

mothers day

mothers day

mothers day

mothers day

mothers day

mothers day

mothers day

mothers day

mothers day

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi