S M L

एमसीडी चुनाव 'आप' सरकार पर जनमत संग्रह, हारने पर इस्तीफा दें केजरीवाल

योगेंद्र यादव ने चुनाव में 'आप' के 50 फीसदी सीटें नहीं जीतने पर अरविंद केजरीवाल से इस्तीफा देने को कहा

Bhasha | Published On: Apr 22, 2017 11:29 PM IST | Updated On: Apr 22, 2017 11:29 PM IST

0
एमसीडी चुनाव 'आप' सरकार पर जनमत संग्रह, हारने पर इस्तीफा दें केजरीवाल

स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने एमसीडी चुनाव को केजरीवाल सरकार पर जनमत संग्रह करार दिया है. उन्होंने कहा कि, चुनाव में आप सरकार अगर 50 फीसदी सीटें नहीं जीत पाती है तो मुख्यमंत्री केजरीवाल को इस्तीफा दे देना चाहिए.

शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री के नाम लिखे पत्र में योगेंद्र यादव ने केजरीवाल को एमसीडी में अक्षम और भ्रष्ट शासन देने वाली बीजेपी को नगर निकाय चुनावों में खड़ा होने देने के लिए जिम्मेदार ठहराया.

यादव ने केजरीवाल को लिखे पत्र में कहा, ‘इस दुर्घटना के लिए व्यक्तिगत रूप से आप जिम्मेदार हैं. आपने दिल्ली की जनता का विश्वास तोड़ा है. विश्वास सिर्फ एक नेता या पार्टी से नहीं टूटा है बल्कि जनता का अपने आप पर से भी विश्वास टूटा है.’ उन्होंने कहा, ‘आपसे धोखा खाने के बाद उन्हें लगता है कि उन्हें अच्छे और बुरे की पहचान नहीं है. इसलिए टूटे मन से बहुत से लोग उन्हीं पार्टियों के पास फिर से जा रहे हैं, जिन्हें उन्होंने दो साल पहले खारिज कर दिया था.’

YOGENDRA yadav

स्वराज अभियान के अघ्यक्ष योगेंद्र यादव ने एमसीडी चुनाव को केजरीवाल सरकार पर जनमत संग्रह करार दिया है

केजरीवाल के पूर्व सहयोगी यादव ने कहा, ‘मैं यह कहने पर मजबूर हूं कि आपने अहंकार, आत्ममुग्धता और सत्ता के लालच में डूबकर यह अपराध किया है.’

इसे भी पढ़ें : एमसीडी चुनाव: 56 हजार जवानों के हाथों में सौंपी गई सुरक्षा, तैयारियां पूरी

यादव ने यह भी कहा, ‘आपने बार-बार दावा किया है कि दिल्ली के लोग आपके साथ हैं. आपने दिल्ली में रविवार को होने वाले एमसीडी चुनाव को अपनी व्यक्तिगत लोकप्रियता के रेफरेंडम में बदल दिया है. आपके होर्डिंग में आपकी पार्टी का नाम भी नहीं है.’

यादव ने कहा, ‘दिल्ली में 70 में से 67 सीटें जीतनें के दो साल के भीतर इस रेफरेंडम में अगर आप हार जाते हैं तो ईवीएम जैसा कोई बहाना नहीं बनाएं, नैतिकता के नाते आप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दें. आपकी सरकार दिल्ली में रिकॉल के सिद्धांत के अनुसार दोबारा जनता से विश्वास मत हासिल करे.’

दिल्ली की तीनों नगर निगमों के 272 सीटों के लिए रविवार को मतदान होना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi