S M L

निबंध प्रतियोगिता पास कीजिए और बन जाइए एनएसयूआई अध्यक्ष

कमेटी में शामिल एक नेता ने कहा कि इस बार हमने इस प्रक्रिया को और विस्तार दिया है हमें नेता नहीं एक युवा कार्यकर्ता चाहिए

FP Staff | Published On: May 04, 2017 10:31 PM IST | Updated On: May 04, 2017 10:31 PM IST

निबंध प्रतियोगिता पास कीजिए और बन जाइए एनएसयूआई अध्यक्ष

सिर्फ लोगों के बीच पैठ बनाकर बड़ा नेता बनने के दिन लद गए लगते हैं. प्रतियोगी परीक्षाओं में सवाल के जवाब देकर अच्छी पोस्ट पाने का जज्बा अब नेताओं को भी पाल लेना चाहिए.

इसकी शुरुआत कांग्रेस ने अपने स्टूडेंट विंग से की है. एनएसयूआई का अध्यक्ष चुनने के लिए पार्टी के बाकायदा प्रश्न पत्र तैयार किया है.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक खबर के मुताबिक कांग्रेस पार्टी ने पहली बार अपने स्टूडेंट विंग के अध्यक्ष पद के लिए एप्लिकेशन पेपर जारी कर उसमें कई सवाल भी दिए हैं जिनके जवाब प्रत्याशियों को देने होंगे.

इस प्रक्रिया से पार्टी के कुछ नेता नाराज

पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अध्यक्ष चुनने के लिए कांग्रेस के जनेरल सेक्रेटरी मुकुल वासनिक की अध्यक्षता में कमेटी गठित की है.

मुकुल वासनिक के अलावा इस कमेटी में एनएसयूआई के गिरीश चोडनकर, पूर्व लोकसभा सांसद मीनाक्षी नटराजन, कृष्णा अलावुरु, यशस्वी मिश्र, रुचि गुप्ता और स्टूडेंट विंग के पूर्व अध्यक्षों को भी रखा गया है.

कहा जा रहा है कि स्टूडेंट विंग के चयन के इस तरीके से कई पार्टी हैरान भी हैं. पार्टी के नेता के मुताबिक आप इसके लिए रखी गई एलिजिबिलिटी को तो देखिए. कोई भी व्यक्ति जिसने स्टूडेंट विंग में सिर्फ एक साल गुजारे हैं वो इस एप्लिकेश फॉर्म को भर सकता है.

किसको सौपेंगे स्टूडेंट विंग की कमान ?

वो आश्चर्य जताते हुए कहते हैं कि आखिर संगठन में सिर्फ एक साल गुजारने वाले आदमी को पूरे देश के स्टूडेंट विंग की कमान कैसे सौंप सकते हैं. क्या हम किसी कॉरपोरेट जॉब के लिए लोगों को रख रहे हैं कि उनका एप्लिकेशन लिया जाएगा और इंटरव्यू किया जाएगा.

अध्यक्ष चुनने के लिए बनाई गई कमेटी में शामिल एक नेता आलोचनाओं को खारिज करते हुए कहते हैं कि पिछली बार ये चुनाव राष्ट्रीय पदाधिकारियों, राज्य अध्यक्षों और उपाध्यक्षों के बीच ही सिमट कर रह गया था.

इस बार हमने इस प्रक्रिया को और विस्तार दिया है. इस बार एक कॉलेज का अध्यक्ष भी इस पद का उम्मीदवार हो सकता है. हमें नेता नहीं एक युवा कार्यकर्ता चाहिए.

क्या आपने इसी तरह की प्रक्रिया एबीवीपी या एसएफआई में देखी है? हमारे स्टूडेंट विंग के कई नेताओं ने नई प्रक्रिया की तारीफ की है.

एप्लिकेशन के कुछ सवाल-

1- राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर आपकी एनएसयूआई के लिए पांच प्राथमिकताएं क्या होंगी? पहले साल के आपका एक्शन प्लान क्या है?

2- आपकी निगाह में एनएसयूआई की मुख्य परेशानियां क्या हैं और अध्यक्ष के रूप में आप उन्हे कैसे ठीक करेंगे ?

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi