S M L

दार्जिलिंग, बशीरहाट हिंसा पर ममता ने केंद्र पर लगाया साजिश का आरोप

ममता ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की तरफ से दार्जिलिंग हिंसा को काबू करने के लिए कोई फोर्स नहीं भेजी गई

FP Staff | Published On: Jul 08, 2017 05:31 PM IST | Updated On: Jul 08, 2017 05:55 PM IST

0
दार्जिलिंग, बशीरहाट हिंसा पर ममता ने केंद्र पर लगाया साजिश का आरोप

दार्जिलिंग और बशीरहाट पिछले कुछ दिनों से विरोध और दंगों की आग में झुलस रहा है. अब तक कई बार इन दोनों इलाकों में रुक-रुक कर हिंसा भड़की है. इस मामले पर सफाई पेश करने आई ममता बनर्जी ने प्रेंस कॉन्फ्रेंस में केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मैं दार्जिलिंग की जनता से अपील करती हूं कि वे हिंसा को बढ़ावा न देकर शांति कायम करने का प्रयास करें. ममता ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि तनाव के बीच केंद्र की तरफ से किसी तरह का सहयोग नहीं मिला. दार्जिलिंग हिंसा को काबू करने के लिए केंद्र ने कोई फोर्स नहीं भेजी. बॉर्डर के नजदीकी इलाकों में विदेशी ताकतों के कारण तनाव है और उनके बीजेपी के साथ अच्छे संबंध हैं.

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में बातचीत की गुंजाइश हमेशा बनी रहती है लेकिन पहले शांति कायम रखना बहुत जरूरी है. ममता दीदी ने कहा, हम बदुरिया और बाशीरहाट में हुई घटना की न्यायिक जांच कराने की मांग करेंगे.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल में शांति के लिए 4 बीएसएफ की कंपनी भेजी थीं. दो दिन पहले भेजी गई कंपनियों की मदद लेने से राज्य सरकार ने इंकार कर दिया था.

केंद्र सरकार की रिपोर्ट की मानें तो बशीरघाट और दार्जीलिंग में हिंसा की समीक्षा में देरी की गई. हालांकि ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाया कि केंद्र की तरफ से कोई मदद नहीं भेजी गई है.

बशीरहाट में सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर दो गुटों में झड़प हो गई थी. दंगों की आग ने पुलिस को भी अपने कब्जे में ले लिया था. दंगाइयों ने पुलिस की गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया था.

बीजेपी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi