S M L

उपराष्ट्रपति चुनाव 2017: वेंकैया नायडू हो सकते हैं एनडीए से उम्मीदवार

सोमवार को उपराष्ट्रपति का नाम तय करने के लिए बीजेपी के संसदीय बोर्ड की बैठक, दक्षिण भारतीय हो सकता है उम्मीदवार

FP Staff | Published On: Jul 17, 2017 02:03 PM IST | Updated On: Jul 17, 2017 02:24 PM IST

0
उपराष्ट्रपति चुनाव 2017: वेंकैया नायडू हो सकते हैं एनडीए से उम्मीदवार

उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए के उम्मीदवार की घोषणा सोमवार शाम हो सकती है. उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार तय करने के लिए सोमवार शाम को बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई गई है.

सूत्रों के अनुसार इस बार एनडीए का उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार दक्षिण भारत से हो सकता है. इस लिहाज से शहरी विकास मंत्री और बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष वेंकैया नायडू का नाम सबसे आगे चल रहा है. इसके साथ ही महाराष्ट्र के राज्यपाल सी. विद्यासागर राव और पश्चिम बंगाल के गवर्नर केसरी नाथ त्रिपाठी का नाम भी चर्चा में है. माना जा रहा है कि दक्षिण भारत में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए बीजेपी किसी दक्षिण भारतीय को उपराष्ट्रपति बनाना चाहती है.

बीजेपी के संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद एनडीए के सभी सांसदों और नेताओं की बैठक होगी. इस बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद रहेंगे. एनडीए की बैठक इस वजह से भी खास जा रही है क्योंकि राज्य सभा में एनडीए की संख्या कम से . इस वजह से ऐसे उम्मीदवार का चयन किया जा सकता है, जिसे एनडीए में शामिल दलों के अलावा अन्य दलों का भी समर्थन मिल सके.

इस वजह से वेंकैया नायडू हो सकते हैं उम्मीदवार  

बीजेपी को यह भरोसा है कि उपराष्ट्रपति चुनाव में उसके उम्मीदवार को 500 से 550 के बीच वोट मिल सकते हैं. राष्ट्रपति चुनावों में बीजेपी ने रामनाथ कोविंद के नाम की पहले ही घोषणा कर विपक्ष में फूट डाल दी थी. लेकिन उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए यही रणनीति विपक्ष ने अपनाई और महात्मा गांधी के पोते गोपालकृष्ण गांधी का नाम पहले ही घोषित कर दिया.

बीजेपी गांधी का काट किसी दक्षिण भारतीय नेता को उपराष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाकर निकाल सकती है. बीजेपी दक्षिण भारत के लिहाज से कमजोर पार्टी मानी जाती है. 2019 के लोकसभा चुनावों में जीत के लिए बीजेपी ने दक्षिण भारत में विस्तार की नीति अपनाई है. इस वजह से वेंकैया नायडू या किसी अन्य दक्षिण भारतीय को बीजेपी अपना उम्मीदवार घोषित कर सकती है.

ऐसे किसी उम्मीदवार की घोषणा से एनडीए और बीजेपी को उम्मीद है कि दक्षिण भारत के कुछ क्षेत्रीय दलों का भी उसे समर्थन मिल सकताहै. कहा जा रहा है कि बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए उम्मीदवार के पास विधायी कार्यों का बड़ा अनुभव होगा. बीजेपी की कोशिश अपने उम्मीदवार के जरिए राजनीतिक संदेश देने की है.

हालांकि राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार का समर्थन कर रही जेडीयू उपराष्ट्रपति के लिए यूपीए के उम्मीदवार के पक्ष में है.

दूसरी ओर कांग्रेस की अगुवाई वाले यूपीए ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पौत्र गोपाल कृष्ण गांधी को अपना उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है. गांधी ने रविवार को राजनीतिक पार्टियों के सदस्यों से मुलाकात की और अपने लिए समर्थन मांगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi