S M L

यूपी के पिछड़ेपन के लिए पिछली सरकारें जिम्मेदार: राज्यपाल

नाईक ने अपने अभिभाषण में कहा कि नई सरकार 'सबका साथ सबका विकास' के नारे के साथ चल रही है

Bhasha | Published On: May 15, 2017 06:30 PM IST | Updated On: May 15, 2017 06:30 PM IST

यूपी के पिछड़ेपन के लिए पिछली सरकारें जिम्मेदार: राज्यपाल

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने राज्य को देश के अग्रणी राज्यों में शुमार करने के योगी आदित्यनाथ सरकार के संकल्प की सराहना की. उन्होंने सूबे के विकास की दौड़ में पिछड़ने के लिए प्रदेश की पिछली सरकारों को जिम्मेदार ठहराया.

नाईक ने प्रदेश की 17वीं विधानसभा के पहले सत्र के पहले दिन विधानमंडल के संयुक्त अधिवेशन में विपक्ष के जोरदार हंगामे के बीच करीब 35 मिनट तक पढ़े गए अपने अभिभाषण में कहा कि एक समय था जब उत्तर प्रदेश विकास के मामले में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल था, लेकिन बाद के कई वर्षों में यह अन्य सूबों से पिछड़ गया.

राज्यपाल ने 84 पन्नों का अभिभाषण पत्र पढ़ते हुए कहा कि अब राज्य की नई सरकार ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ के लक्ष्य के साथ इसे फिर से अग्रणी राज्य बनाने का संकल्प लिया है.

कानून के राज पर जोर

राज्य सरकार के करीब दो महीने के अब तक के कार्यकाल में उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए नाईक ने कहा, ‘राज्य सरकार तुष्टीकरण की नीति नहीं अपनाएगी और समाज के हर वर्ग के हितों की रक्षा करेगी.’

कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि सरकार पूरी तरह कानून का राज स्थापित करने और भयमुक्त और शांतिपूर्ण माहौल सुनिश्चित करने के लिए कटिबद्ध है. सुरक्षित समाज बनाने के लिए एंटी भूमाफिया टास्क फोर्स और एंटी-रोमियो दल इत्यादि का गठन किया गया है.

राज्यपाल ने अभिभाषण में कहा, ‘अपराध पर प्रभावी नियंत्रण और अपराधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिये उप महानिरीक्षक स्तर से लेकर पुलिस महानिदेशक स्तर तक नियमित निगरानी की जा रही है. इसके साथ ही शत-प्रतिशत मुकदमे दर्ज कर उन पर समयबद्ध तरीके से कार्रवाई के स्पष्ट निर्देश दिये गये हैं.’

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi

लाइव

Match 2: Bangladesh 24/0Tamim Iqbal on strike