S M L

नीतीश-तेजस्वी बैठक: जेडीयू ने फिर कहा- जनता के बीच सफाई दें तेजस्वी

जेडीयू ने मुलाकात को नियमित बैठक बताते हुए फिर से अपने रुख को दोहराते हुए तेजस्वी से पूर्ण तथ्यों के साथ जनता के बीच जाने को कहा

Bhasha Updated On: Jul 19, 2017 06:41 PM IST

0
नीतीश-तेजस्वी बैठक: जेडीयू ने फिर कहा- जनता के बीच सफाई दें तेजस्वी

होटल के बदले भूखंड मामले में सीबीआई द्वारा आरोपी बनाए गए बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके कक्ष में मंगलवार शाम हुई मुलाकात के बाद राज्य में सत्ताधारी जेडीयू और आरजेडी के बीच सबकुछ ठीक हो जाने की अटकलों के बीच जेडीयू ने दोनों की मुलाकात को नियमित बैठक बताते हुए बुधवार को फिर से अपने रुख को दोहराते हुए तेजस्वी से पूर्ण तथ्यों के साथ जनता के बीच जाने को कहा.

जेडीयू को तेजस्वी के जवाब का इंतजार

मुख्यमंत्री कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी की मुलाकात के बाद महागठबंधन में सबकुछ ठीक-ठाक हो जाने के बारे में पूछे जाने पर जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा, 'यह भी कहने की क्या जरूरत है कि सबकुछ ठीक हो गया. गड़बड़ हुई कहां थी. गठबंधन में कोई गड़बड़ी तो थी नही.'

उन्होंने कहा कि आज भी हमारा वही रूख है कि भ्रष्टाचार के मामले में बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करना. जिन पर आरोप लगे हैं वह सार्वजिनक रूप से सामने आकर तथ्यों के साथ स्पष्टीकरण दें. आलोक ने कहा, 'इन दोनों बातों का कोई संबंध नहीं है. मुख्यमंत्री से वह अधिकारिक तौर पर मिल रहे हैं. हम यहां बात कर रहे हैं अपनी पार्टी की ओर से जो कि राजनीतिक बातें हैं. हमारी पार्टी का जो रूख है उस पर आरजेडी और उसके नेता तेजस्वी यादव को जवाब देना है. हम आज भी इंतजार कर रहे हैं.’ उन्होंने यह जरूर दावा किया कि महागठबंधन बहुत मजबूत है. उसमें कोई दिक्कत नहीं.

मुलाकात को कहा सामान्य बैठक 

जेडीयू के दूसरे प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने भी मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की मुलाकात को सरकारी कार्यों को लेकर 'सामान्य' बैठक बताया.

होटल के बदले भूखंड मामले को लेकर जेडीयू और आरजेडी के बीच बढ़ी कटुता के बीच गत 15 जुलाई को पटना में आयोजित एक सरकारी कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शामिल हुए थे लेकिन उसमें उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव नदारद थे जिससे इस कटुता के चरम सीमा पर पहुंच जाने की अटकलें लगायी जाने लगी थी. इस बीच तेजस्वी ने मंगलवार शाम में नीतीश की अध्यक्षता में संपन्न मंत्रिपरिषद में भाग लिया था.

पटना स्थित पुराने सचिवालय में मंगलवार शाम करीब एक घंटे तक चली राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद तेजस्वी मुख्यमंत्री के कक्ष में गए थे और उनसे उनकी यह मुलाकात करीब 45 मिनट चली थी. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और तेजस्वी के भाई तेजप्रताप यादव और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एवं शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी भी मुख्यमंत्री के कमरे में मौजूद थे.

आरजेडी ने कहा था बेहतर संकेत 

जेडीयू जहां इस बैठक को बहुत महत्व नहीं देते हुए अपने रुख पर कायम रहने की बात कर रही है, वहीं आरजेडी ने उनकी मुलाकात को बेहतर संकेत बताया है.

आरजेडी के मंत्री विजय प्रकाश ने मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर कहा था कि हमलोगों के बीच कोई मतभेद नहीं. महागठबंधन सशक्त है.

विजय के बडे़ भाई और आरजेडी सांसद जयप्रकाश यादव ने भी दावा किया कि सबकुछ अच्छा है. बहुत अच्छा है.

आरजेडी के पूर्व मंत्री शिवानंद तिवारी जो कि इस संकट को लेकर लगातार लालू प्रसाद के संपर्क में हैं, ने कहा जो कुछ हुआ है कल बातचीत हुई है. यह स्वागत योग्य है. हम मानते हैं कि गाड़ी पटरी पर आ गयी है. अब इसको गति पकड़ने में विलंब नहीं लगेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi