S M L

एआईएडीएके: पन्नीरसेल्वम-पलानीसामी धड़ों के बीच विलय के प्रयास तेज

पलानीस्वामी द्वारा गठित समिति की अध्यक्षता राज्यसभा सदस्य आर वैथीलिंगम करेंगे.

Bhasha Updated On: Apr 23, 2017 10:29 AM IST

0
एआईएडीएके: पन्नीरसेल्वम-पलानीसामी धड़ों के बीच विलय के प्रयास तेज

अन्नाद्रमुक के धड़ों के विलय के प्रयास के तहत तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और पूर्व मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम के गुटों ने बातचीत के लिए अपनी-अपनी समितियों के गठन की घोषणा की.

पलानीस्वामी द्वारा गठित समिति की अध्यक्षता राज्यसभा सदस्य आर वैथीलिंगम करेंगे. वहीं पन्नीरसेल्वम गुट ने वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री के पी मुनुसामी को सात सदस्यीय समिति का अध्यक्ष बनाया.

ये भी पढ़ें: शशिकला के भतीजे दिनाकरण के खिलाफ लुकआउट नोटिस

पन्नीरसेल्वम धड़े की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि पूर्व मंत्री सी पोन्नीयन, आर विश्वनाथ और के पंडियाराजन, राज्यसभा सदस्य वी मैत्रेयन, पूर्व सांसद टी एच मनोज पंडियन और पूर्व विधायक जे सी डी प्रभाकर इस समिति के सदस्य होंगे.

इससे पहले बातचीत में गतिरोध पैदा हो गया था, जब ओ पन्नीरसेल्वम गुट ने विलय वार्ता के लिए पार्टी महासचिव वी के शशिकला और उप महासचिव टीटीवी दिनाकरन को औपचारिक तौर पर पार्टी से निकालने की शर्त रखी थी.

ये भी पढ़ें: पन्नीरसेल्वम की जिद: शशिकला का इस्तीफा और मुख्यमंत्री पद मिले तभी होगा विलय

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के पिछले साल पांच दिसंबर को निधन से जुड़ी परिस्थितियों की सीबीआई जांच की भी मांग की थी.

विलय वार्ता के लिए अपना रूख कड़ा करते हुए पन्नीरसेल्वम गुट ने मांग की थी कि पलानीस्वामी के नेतृत्व वाला धड़ा शशिकला और दिनाकरन के अलावा उनके परिवार के 30 अन्य सदस्यों को पार्टी से औपचारिक तौर पर बख्रास्त करें.

ये भी पढ़ें: चुनाव आयोग ने एआईएडीएमके के चुनाव चिह्न पर रोक की अवधि बढ़ाई

इस बीच, ओपीएस गुट के पूर्व स्कूल शिक्षा मंत्री के पांडियाराजन ने पुष्टि की कि पलानीस्वामी गुट ने बातचीत के लिए उनसे संपर्क किया है. इससे पहले पन्नीरसेल्वम धड़े के शीर्ष नेता के पी मुनासामी ने कहा था कि पहली मांग शशिकला और दिनाकरन का इस्तीफा लेने और बाद में उनके परिवार के 30 अन्य सदस्यों के साथ उन्हें औपचारिक तौर पर निष्कासित करना है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi