S M L

राज्यसभा के लिए दूसरी बार चुनाव नहीं लड़ेंगे सीताराम येचुरी

माकपा के पास इतने विधायक नहीं हैं कि वह येचुरी को राज्य से अपने दम पर राज्यसभा भेज सके

Bhasha | Published On: Apr 30, 2017 09:01 PM IST | Updated On: Apr 30, 2017 09:01 PM IST

राज्यसभा के लिए दूसरी बार चुनाव नहीं लड़ेंगे सीताराम येचुरी

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने बड़ा फैसला किया है. येचुरी ने बताया कि इस बार वह राज्यसभा के लिए चुनाव नहीं लड़ेंगी. येचुरी का दूसरा कार्यकाल अगस्त में खत्म हो रहा है.

येचुरी ने कहा कि वह एक और कार्यकाल नहीं मांगेंगे क्योंकि पार्टी का मानदंड किसी नेता को दो से अधिक बार राज्यसभा के लिए निर्वाचित होने की अनुमति नहीं देता है.

उन्होंने कहा, ‘यह हमारी पार्टी का मानदंड है. इसलिए, मैं तीसरे कार्यकाल के लिए चुनाव नहीं लड़ूंगा. पार्टी महासचिव के तौर पर मुझे इस बात को सुनिश्चित करना है कि मानदंड का पालन हो.’

वाम दलों में सूत्रों के अनुसार कांग्रेस ने पेशकश की थी कि अगर येचुरी पश्चिम बंगाल से चुनाव लड़ते हैं तो माकपा महासचिव के दोबारा निर्वाचन के लिए वह समर्थन देगी. येचुरी को राज्यसभा में विपक्ष की ओर से अच्छे वक्ताओं में से एक माना जाता है.

अकेले माकपा सीताराम येचुरी को राज्यसभा नहीं भेज सकती

तृणमूल कांग्रेस के हाथों माकपा को 2016 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा था. माकपा के राज्य विधानसभा में सिर्फ 26 विधायक हैं. माकपा के पास इतने विधायक नहीं हैं कि वह येचुरी या किसी अन्य नेता को राज्य से अपने दम पर राज्यसभा भेज सके.

कांग्रेस के राज्य विधानसभा में 44 विधायक हैं और उसका समर्थन येचुरी के लिए एक और कार्यकाल सुनिश्चित कर सकता था.

पार्टी के एक सूत्र ने कहा कि किसी नेता को दो से अधिक बार राज्यसभा के लिए निर्वाचित नहीं करने की प्रथा एक मानदंड है और जरूरत पड़ने पर पार्टी इसके विपरीत फैसला कर सकती है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi