S M L

नेता बनना है! ढाई लाख में आरएसएस बना रहा है 'नेता'

आरएसएस से संबंधित आरएमपी अगस्त से किसी भी राजनीतिक दल के नेताओं को 'नेकनीयत' बनाने के लिए एक ट्रेनिंग कोर्स शुरू करेगा

Bhasha | Published On: Jun 25, 2017 09:04 PM IST | Updated On: Jun 25, 2017 09:04 PM IST

0
नेता बनना है! ढाई लाख में आरएसएस बना रहा है 'नेता'

अभी तक आरएसएस से संबंधित संस्थान सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करवाते रहे हैं. आरएसएस सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के नाम से स्कूल भी चलाता है. ये संस्थान आरएसएस की विचारधारा पर चलते हैं.

अब आरएसएस से संबंधित एक संगठन अगस्त से किसी भी राजनीतिक दल के नेताओं को 'नेकनीयत' बनाने के लिए एक ट्रेनिंग कोर्स शुरू करेगा.

रामभाउ म्हालगी प्रबोधिनी (आरएमपी) महाराष्ट्र के ठाणे जिले में स्थित अपने परिसर में नेतृत्व, राजनीति और शासन पर नौ माह के पीजी डिप्लोमा आवासीय कोर्स का संचालन करेगी.

आरएमपी के एक प्रशासक ने कहा कि स्नातक डिग्री वाला कोई भी व्यक्ति- नेता, लोक सेवक, पत्रकार या अन्य पेशे में जाने का आकांक्षी- इस कोर्स की पढ़ाई कर सकता है.

किसी भी पार्टी से जुड़ने के लिए स्वतंत्र होंगे छात्र

संस्थान 40 छात्रों के बैच से कोर्स की शुरुआत करेगा. इसके लिए ढाई लाख रुपए की फीस रखी गई है. इसमें पढ़ाई के सिलसिले में यात्रा, छात्रावास और मेस सेवाओं के खर्च शामिल हैं.

बीजेपी उपाध्यक्ष और आरएमपी उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे ने मुद्दों को लेकर जागरूकता की कमी को उद्धत करते हुए कहा, 'आज के समय में कई राजनीतिज्ञ दुर्भाग्यपूर्ण रूप से ये नहीं जानते हैं कि वे नहीं जानते हैं.' उन्होंने कहा कोर्स पूरा होने के बाद छात्र किसी भी पार्टी से जुड़ने के लिए स्वतंत्र होंगे.

सहस्त्रबुद्धे ने कहा, 'हम विचारधाराओं से उपर उठे हैं. हमारा लक्ष्य अच्छे और नेकनीयत नेता के निर्माण में मदद करना है.'

उन्होंने कहा कि आरएमपी ने पूर्व में अपने दस दिन के 'नेतृत्व साधना' कार्यक्रम के तहत शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस और मनसे के कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित कर चुकी है. सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि आरएमपी को संबंधित विषयों पर व्याख्यान के लिए अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं को आमंत्रित करने के लिए भी खुली है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi