S M L

आप में बगावत: कुमार विश्वास और मनीष सिसोदिया आमने-सामने

मनीष सिसोदिया ने कहा, कैमरे के सामने बोलने के बजाय कुमार विश्वास को पार्टी फोरम का सहारा लेना चाहिए

FP Staff | Published On: May 02, 2017 07:25 PM IST | Updated On: May 02, 2017 08:15 PM IST

आप में बगावत: कुमार विश्वास और मनीष सिसोदिया आमने-सामने

कुमार विश्वास के सार्वजनिक तौर पर यह संकेत देने के बाद कि वह पार्टी छोड़ सकते हैं मनीष सिसोदिया का भी पलटवार आ गया है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने विश्वास पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें कैमरे के सामने बोलने से पहले पार्टी फोरम पर बात करना चाहिए.

विश्वास पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा, ‘किसी ने भी कुमार विश्वास को माफी मांगने के लिए नहीं कहा है. उन्होंने कहा कि तीन लोगों- अरविंद, कुमार और मैंने मिलकर इतिहास बनाया है. यह बिल्कुल गलत है. यह पार्टी लाखों वॉलेंटियर्स ने मिलकर बनाया है. यह सिर्फ मुझसे, कुमार या अरविंद केजरीवाल से जुड़ा हुआ नहीं है.’

एक्शन में मनीष सिसोदिया  

उन्होंने कहा, ‘कुमार विश्वास को सोमवार रात पीएसी की बैठक के लिए बुलाया गया था लेकिन वे नहीं आए. मैं कुमार से मिलने उनके घर गया था. अरविंद केजरीवाल उनके साथ लगातार 3 घंटे तक बैठे. मैं कुमार विश्वास से कहना चाहता हूं कि टीवी पर इस तरह के बयानों से पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल कमजोर होगा.’

मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर पार्टी के लीडर खुलेआम टीवी पर एक दूसरे के खिलाफ ऐसी बातें करेंगे तो कार्यकर्ताओं का जोश कम होगा. कुमार विश्वास को टीवी के बजाय पीएसी में यह बात उठानी चाहिए थी.

क्या है कुमार विश्वास का आरोप?

इससे पहले विश्वास ने आरोप लगाया था कि पार्टी सुप्रीमो के इशारे पर उनके खिलाफ एक साजिश रची गई है. कुमार विश्वास का कहना है कि अमानतुल्लाह सिर्फ मुखौटा हैं. उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि लगातार छह चुनावों में हार के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ हमारा मुहिम दूषित हो गया है. अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया जानते हैं कि मैं सीएम, डिप्टी सीएम या पार्टी का चीफ नहीं बनना चाहता हूं.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi