S M L

पीएम मोदी ने फिर साबित किया, आराम हराम है!

प्रधानमंत्री लगातार कहते रहते हैं कि देश की 125 करोड़ जनता के लिए वो हर पल समर्पित रहते हैं

Amitesh Amitesh Updated On: Jul 26, 2017 02:30 PM IST

0
पीएम मोदी ने फिर साबित किया, आराम हराम है!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काम करने का अंदाज हमेशा चर्चा में रहता है. उनकी काम करने की क्षमता और बिना ब्रेक के अपने मिशन में लगातार जुटे रहना उन्हें सबसे अलग करता है. 26 मई 2014 को देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से ही वह ना कभी रुके, ना थके...लगातार चलते रहे हैं.

एक बार फिर से उनके काम करने का यही अंदाज सामने आया है. मंगलवार को देश के 14वें राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद को शपथ ग्रहण करना था. इस  कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी बेहद जरूरी थी. इस समारोह के व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद प्रधानमंत्री ने गुजरात के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया. यहां तक कि इस दौरान वे अपने अधिकारियों से लगातार अलग-अलग मुद्दों पर ब्रीफिंग भी लेते रहे.

क्या रहा पीएम का कार्यक्रम?

मंगलवार को प्रधानमंत्री सुबह 9.30 बजे बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पहुंचे. वहां पार्टी के सभी सांसदों को संबोधित करने के बाद वो संसद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे. शपथ ग्रहण समारोह संसद के सेंट्रल हॉल में चल रहा था.वहां प्रधानमंत्री लगातार पूरे कार्यक्रम के दौरान मौजूद रहे.

इसके बाद राष्ट्रपति भवन में प्रणब मुखर्जी को दिए गार्ड ऑफ ऑनर कार्यक्रम में भी प्रधानमंत्री ने शिरकत की. हालांकि, इससे पहले संसद में मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के साथ एक अलग से बैठक की. माना जा रहा है कि इस दौरान गुजरात में बाढ़ के हालात सहित कई मुद्दों पर प्रधानमंत्री ने विजय रूपाणी से बात की.

हर कार्यक्रम को दिया वक्त

राष्ट्रपति भवन में समारोह के बाद प्रधानमंत्री सीधे अहमदाबाद के लिए रवाना हो गए. वहां उन्होंने बाढ़ की हालात का जायजा लिया. इस वक्त गुजरात बाढ़ की चपेट में है. बाढ़ से बनासकांठा का इलाका इससे प्रभावित हुआ है.

अहमदाबाद में मीटिंग करने के तुरंत बाद प्रधानमंत्री ने ढाई घंटे तक बाढ़ ग्रस्त इलाके का सर्वे भी किया. खराब मौसम में जिस हेलीकाप्टर से उन्होंने इतनी देर तक हवाई सर्वे किया उसकी सीटिंग अरेंजमेंट्स भी ठीक नहीं था.

हवाई सर्वे के बाद प्रधानमंत्री ने दोबारा अधिकारियों से बाढ़ की स्थिति को लेकर अधिकारियों से चर्चा की. इस दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से भी उनकी मुलाकात हुई. मुख्यमंत्री को जरूरी कदम उठाने को कहकर प्रधानमंत्री ने फिर दिल्ली के लिए उड़ान भरी.

काम के लिए हर पल समर्पित

दिन भर के लगातार व्यस्त कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री रात दस बजे दिल्ली पहुंचे. दिल्ली से अहमदाबाद और अहमदाबाद से दिल्ली का सफर करते वक्त भी पीएम आराम के मूड में नहीं थे. विमान में भी वे अधिकारियों से लगातार अलग-अलग मुद्दों पर ब्रीफिंग ले रहे थे. इस दौरान उन्होंने कुछ जरूरी फाइलें भी निपटाईं.

प्रधानमंत्री लगातार कहते रहते हैं कि देश की 125 करोड़ जनता के लिए वो हर पल समर्पित रहते हैं. गुजरात दौरे के दौरान एक बार फिर मोदी के बिना रूके-थके काम करने की तस्वीर साफ उभर कर आई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi