S M L

राष्ट्रपति चुनाव में साझा उम्मीदवार उतार सकती हैं गैर-बीजेपी पार्टियां: शरद यादव

विधानसभा चुनावों में बीजेपी की बड़ी जीत ने राष्ट्रपति चुनाव से पहले एकता कायम करने के विपक्षी प्रयासों में तेजी ला दी है

Bhasha | Published On: Apr 24, 2017 05:38 PM IST | Updated On: Apr 24, 2017 05:38 PM IST

राष्ट्रपति चुनाव में साझा उम्मीदवार उतार सकती हैं गैर-बीजेपी पार्टियां: शरद यादव

जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव ने सोमवार कहा कि गैर-बीजेपी पार्टियां राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक साझा उम्मीदवार के चयन पर आम सहमति बनाने की कोशिश कर रही हैं.
यादव ने कहा, ‘राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक साझा उम्मीदवार खड़ा करने के लिए गैर-बीजेपी पार्टियों को साथ लाना आसान नहीं है. लेकिन इसके लिए काफी वक्त है क्योंकि चुनाव जुलाई में होने वाले हैं.’
उन्होंने कहा, ‘साथ आने के बाद ये पार्टियां तय करेंगी कि उनका साझा उम्मीदवार कौन होगा.’ बहरहाल, उन्होंने कहा कि पार्टियों ने अब तक किसी नाम पर चर्चा शुरू नहीं की है.
यादव रविवार की रात को वडोदरा पहुंचे और सोमवार सुबह जिले के वाघोड़िया इलाके के लिए रवाना हुए, जहां जदयू की सामाजिक न्याय रैली का समापन होना है. आदिवासियों के अधिकारों के संरक्षण के लिए यह रैली आयोजित की गई है.
क्या है विपक्षियों की एकता का राज? 
उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बीजेपी की बड़ी जीत ने राष्ट्रपति चुनाव से पहले एकता कायम करने के विपक्षी प्रयासों में तेजी ला दी है.
माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने हाल में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर एक संयुक्त उम्मीदवार उतारने की संभावनाएं तलाशने को लेकर चर्चा की. दूसरी ओर, आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बिहार जैसा महागठबंधन बनाने की जरूरत पर जोर दिया था.

इससे पहले, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी का मुकाबला करने के लिए क्षेत्रीय पार्टियों के बीच व्यापक एकता कायम करने का आह्वान कर चुकी हैं.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi