S M L

पीएम मोदी के निमंत्रण का गलत मतलब निकाला जा रहा है: नीतीश

सोनिया गांधी के यहां आयोजित भोज में शामिल नहीं होने पर नीतीश ने कहा कि इसका गलत अर्थ निकाला जा रहा है

Bhasha Updated On: May 26, 2017 11:26 PM IST

0
पीएम मोदी के निमंत्रण का गलत मतलब निकाला जा रहा है: नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोनिया गांधी द्वारा आयोजित भोज में शामिल नहीं होने और शनिवार को पीएम मोदी की तरफ से आयोजित लंच के लिए मिले निमंत्रण को लेकर लगाए जा रहे अटकलों पर विराम लगाया है.

शुक्रवार को पटना में नीतीश ने कहा कि 'इसका गलत मतलब नहीं निकालना चाहिए.'

मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत में इसे अधिक तवज्जो ना देते हुए कहा कि इसका ‘गलत मतलब’ निकाला जा रहा है.

सोनिया गांधी के यहां आयोजित भोज में शामिल नहीं होने पर नीतीश ने कहा कि इसका गलत अर्थ निकाला जा रहा है. जाने या ना जाने जैसी कोई बात ही नहीं है.

चार-पांच दिन पहले कांग्रेस के नेता अहमद पटेल ने जब सोनिया गांधी के यहां दोपहर के भोज पर बैठक की खातिर जेडीयू को निमंत्रित करने के लिए मुझे फोन किया था तब ही मैंने उन्हें इसके बारे में बता दिया था.’

Sonia Meet

सोनिया गांधी के बुलावे पर विपक्षी दलों की हुई बैठक में राष्ट्रपति चुनाव में साझा उम्मीदवार उतारने को लेकर चर्चा हुई (फोटो: पीटीआई)

मुख्यमंत्री ने कैबिनेट की बैठक से निकलने के बाद कहा, ‘जेडीयू को निमंत्रण दिया गया था और पार्टी प्रतिनिधि के तौर पर उसमें शरद यादव शामिल हुए.'

साझा उम्मीदवार खड़ा करने की कोशिशों को झटका

शुक्रवार को विपक्ष की बैठक से नीतीश के गैर-मौजूद रहने को राष्ट्रपति पद के आगामी चुनाव में गैर बीजेपी दलों द्वारा साझा उम्मीदवार खड़ा करने की कोशिशों को झटके की तरह देखा जा रहा है.

इसपर नीतीश कुमार ने कहा ‘मैं पहले ही इसपर सोनिया गांधी से मिल चुका हूं और दूसरे दलों के प्रमुख नेताओं से फोन पर बात की है.’

इसे भी पढ़े: सोनिया के लंच में न जाकर नीतीश ने साबित कर दिया कि विपक्ष के सबसे बड़े नेता वही हैं

शनिवार को प्रधानमंत्री द्वारा आयोजित भोज में शामिल होने के बारे में पूछे जाने पर नीतीश ने कहा कि 'उन्होंने यह निमंत्रण बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर स्वीकार किया है. मॉरिशस के लंबे समय से बिहार से भावनात्मक संबंध रहे हैं. मॉरिशस की 52 फीसदी से ज्यादा आबादी मूल रुप से बिहारी हैं.’

उन्होंने कहा, ‘मॉरिशस के पूर्व एवं मौजूदा प्रधानमंत्री की जड़ बिहार में है.’ नीतीश ने कहा कि शनिवार दोपहर के भोज के बाद वह प्रधानमंत्री के साथ बैठेंगे और गंगा नदी पर चर्चा करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi