S M L

सीएम योगी का दलितों के साथ भोज सिर्फ सियासी नाटकबाजी: मायावती

मायावती ने कहा कि आखिर क्यों सहारनपुर जातिय संघर्ष के मुख्य दोषियों को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया है?

Bhasha | Published On: Jun 15, 2017 04:51 PM IST | Updated On: Jun 15, 2017 04:51 PM IST

0
सीएम योगी का दलितों के साथ भोज सिर्फ सियासी नाटकबाजी: मायावती

बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बुधवार को दलितों के साथ भोजन करने को राजनीतिक नौटंकी करार दिया है.

गुरूवार को मायावती ने मुख्यमंत्री और अन्य भाजपा नेताओं द्वारा गोरखपुर के कैम्पियरगंज में दलित समाज के लोगों के साथ भोजन किये जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ये बातें कहीं.

'नहीं बदलने वाला भाजपा का दलित विरोधी चेहरा'

उनका कहना था कि इस नाटकबाजी और बनावटी काम से भाजपा का वर्षों पुराना दलित एवं पिछड़ा विरोधी चाल, चरित्र तथा चेहरा नहीं बदल सकता.

उन्होंने कहा कि खासतौर से दलितों के मामले में प्रदेश की भाजपा सरकार की नीयत और नीति में अगर थोड़ी भी सच्चाई होती तो सहारनपुर का जातिय दंगा कभी इतना गंभीर रूप धारण नहीं करता और ना ही वहां दलितों पर जुल्म-ज्यादती जारी रहती.

'सहारनपुर दंगों के असली दोषी अब तक पकड़ से बाहर'

मायावती ने कहा कि सहारनपुर जातिय संघर्ष के मुख्य दोषियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है और दंगा पीड़ितों को न्याय नहीं दिया गया है. इससे यह प्रमाणित होता है कि प्रदेश सरकार का दलितों के प्रति रवैया पूरे देश की अन्य भाजपा सरकारों की तरह ही जातिय, द्वेषपूर्ण तथा अन्यायपूर्ण है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi