S M L

कागजों पर बना हाइवे: योगी सरकार ने दिए सीबीआई जांच के आदेश

यह कागजी फोर लेन सड़क दिल्ली-सहारनपुर-यमुनोत्तरी मार्ग एनएच-57 पर बननी थी. इसकी लागत 1700 करोड़ रुपए थी

FP Staff | Published On: May 29, 2017 09:46 PM IST | Updated On: May 29, 2017 09:46 PM IST

0
कागजों पर बना हाइवे: योगी सरकार ने दिए सीबीआई जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने स्टेट हाईवे अथॉरिटी में घोटाले की जांच सीबीआई को सौंपने की तैयारी कर ली है. योगी सरकार ने इसके लिए केंद्र सरकार को सिफारिश भेज दी है.

पता चला है कि दिल्ली-सहारनपुर से यमुनोत्री तक एनएच-57 पर 206 किलोमीटर का हाईवे बनना था. पता चला कि बिना हाईवे बनाए ही बैंक से 455 करोड़ रुपए निकाल लिए गए.

इस काम के लिए 2011 के अगस्त में मेसर्स एसईडब्ल्यू-एसएसवाई हाइवेज लिमिटेड को ठेका मिला था. पता चला कि न तो सड़क बनी और न ही किसी तरह का जमीन पर काम हुआ, लेकिन जालसाजों ने 206 किलोमीटर फोर लेन सड़क कागजों पर बना डाली.

किसने किया यह कारनामा?

यह कागजी फोर लेन सड़क दिल्ली-सहारनपुर-यमुनोत्तरी मार्ग एनएच-57 पर बननी थी. इसकी लागत 1700 करोड़ रुपए थी. लेकिन कार्यदायी कंपनी ने निर्माण कार्य दिखाकर 14 बैकों से 455 करोड़ 48 लाख रुपए निकाल लिए. यह कारनामा मेसर्स एसईडब्ल्यू-एसएसवाई हाईवे लिमिटेड ने किया है.

यह काम बीएसपी सरकार में अगस्त, 2011 में इस कंपनी को दिया गया था. कंपनी को फोरलेन बनाने का काम तीन सालों में पूरा करना था. कंपनी ने परियोजना को पूरा करने के लिए चौदह बैकों से करीब 600 करोड़ रुपए का लोन भी ले लिया. लेकिन जांच हुई तो महज 13 फीसदी ही काम हुआ पाया गया.

इस काम में 150 करोड़ का ही कंपनी का खर्च पाया गया, जबकि कंपनी ने बैकों का 455 करोड़ रुपए सड़क निर्माण दिखा कर गबन कर लिया था.

कौन कौन से बैंक शामिल हैं?

अब स्टेट हाईवे अथॉरिटी के सबसे बड़े घोटाले की जांच सीबीआई करेगी. जिन 14 बैकों से 455 करोड़ रुपए गबन किया गया है. उनमें प्रमुख रूप से एसबीआई, आईसीआईसीआई, कॉरपोरेशन बैंक, पंजाब और सिंध बैंक, यूनियन बैंक आफ इंडिया, स्टेट बैंक आफ हैदराबाद शामिल हैं.

इस घोटाले में बैक के अधिकारियों के संलिप्त होने के भी संकेत मिले हैं. कंपनी के 4 निदेशकों समेत बैंक के अधिकारियों समेत 18 लोगों के खिलाफ लखनऊ के विभूति खंड थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने इस संबंध में सख्त चेतावनी दी कि पूर्ववर्ती सरकारों में हुए घोटालों की जांच करा कर कार्यवाही की जाएगी.

न्यूज़ 18 साभार

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi