S M L

राइजिंग यूपी: तीन तलाक पर रोक जरूरी

इस प्लेटफॉर्म का मकसद किसी भी राज्य के वरिष्ठ राजनीतिक नेतृत्व को एक मंच पर लाकर उस राज्य के विकास को लेकर उसके दृष्टिकोण को जानना

FP Staff | Published On: May 23, 2017 08:55 PM IST | Updated On: May 23, 2017 09:26 PM IST

0
राइजिंग यूपी: तीन तलाक पर रोक जरूरी

राइजिंग सीरीज के तहत न्यूज 18 नेटवर्क 'राइजिंग यूपी' कार्यक्रम चल रहा है. इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं. कार्यक्रम में सबसे पहले आए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव. उनके बाद यूपी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा, सिद्धार्थनाथ सिंह, दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद मौर्य पहुंचे.

इस प्लेटफॉर्म का मकसद किसी भी राज्य के वरिष्ठ राजनीतिक नेतृत्व को एक मंच पर लाकर उस राज्य के विकास को लेकर उसके दृष्टिकोण को जानना और उस पर चर्चा करना है. 'नए उद्देश्य, बढ़ता प्रदेश' की थीम पर आधारित राइज़िंग यूपी कार्यक्रम वादा करती है कि वो राज्य के नवनिर्वाचित सरकार के विकास एजेंडे पर चर्चा करेगी.

क्या कहा सीएम योगी आदित्यनाथ ने 

राइजिंग यूपी में बोले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अब तक प्रदेश सरकार 22 हजार करोड़ रुपये गन्ना किसानों को दे चुकी है.

देश में 20 नए कृषि विज्ञान केंद्र बनाने की प्रक्रिया जारी है. इसके लिए भूमि आवंटन किया जा रहा है- योगी

पहले यूपी के 5 जिलों में ही बिजली की सप्लाई होती थी, बाकी राज्यों में बिजली गुल रहती थी, हमने बिजली में ये वीआईपी कल्चर बंद किया- योगी

हर मंत्रालय को 100 दिन का लक्ष्य दिया गया है, हम 100 दिन के कामकाज के साथ जनता के सामने आएंगे- योगी

मुख्यमंत्री बनने से मेरी दिनचर्या में कोई परिवर्तन नहीं आया है, पहले भी मैं 16 से 18 घंटे काम करता था. अब थोड़ा और काम कर रहा- योगी

प्रदेश में अब विपक्ष नाम की कोई चीज नहीं बची है, समाजवादी पार्टी अब परिवारवादी पार्टी बन गई है- योगी

मायावती जी को प्रदेश की जनता जवाब दे चुकी है. सहारनपुर में आज कोई घटना नहीं हुई है. प्रदेश में जातीय और सांप्रदायिक झगड़ा हम नहीं होने देंगे- योगी

तीन तलाक एक कुप्रथा है, इस पर रोक लगनी चाहिए- योगी

इंसेफेलाइटिस बीमारी 1977-78 से पूर्वी उत्तर प्रदेश में आई. मीडिया ने 1998 तक इसे कभी कवर नहीं किया. सांसद बनने पर मैंने संसद में बोलने के लिए नोटिस दिया था. मैंने जिद करके कहा था कि मैं इस पर बोलूंगा. प्रमोद महाजन जी की पहल पर मुझे बोलने का मौका मिला, मैंने जब बोलना शुरू किया तो कई सांसद हंसने लगे. तब मैंने पहली बार इस बीमारी के बारे में संसद में बोला था- योगी

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi