विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

नीतीश की राजनीतिक पहचान खत्म कर देगी बीजेपी: लालू यादव

फ़र्स्टपोस्ट से खास बातचीत में लालू ने सीबीआई के सवालों का जवाब देने की अपनी खास शर्त भी बताई

Kanhaiya Bhelari Kanhaiya Bhelari Updated On: Oct 18, 2017 12:28 PM IST

0
नीतीश की राजनीतिक पहचान खत्म कर देगी बीजेपी: लालू यादव

लालू प्रसाद का इंटरव्यू हमेशा ही मजेदार होता है. वो दिल खोलकर बात करते हैं. आरजेडी सुप्रीमो का साक्षात्कार हास्य, व्यंग्य और मस्ती का तड़का होता है. फ़र्स्टपोस्ट के लिए लालू प्रसाद का एक ऐसा ही इंटरव्यू कन्हैया भेलारी ने उनके आवास पर किया.

कन्हैया भेलारी: हम फ़र्स्टपोस्ट हिंदी के लिए आपका इंटरव्यू ले रहे हैं, क्या आप इसे जानते और पढ़ते हैं?

लालू प्रसाद : हां-हां खूब जानते हैं. बाबा (शिवानंद तिवारी) अक्सर पढ़ाते भी हैं. अच्छी न्यूज रहती है. लेकिन हमारे बारे में खाली निगेटिव छापते हो. कोई बात नहीं. हम किसी पत्रकार को समाचार के लिए प्रताड़ित नहीं करते हैं. नरेंद्र मोदी सब अखबार के मालिक लोगों को डरा दिए हैं.

फ़र्स्टपोस्ट: नीतीश कुमार ने आपको छोड़ दिया. चर्चा है कि आप महागठबंधन की सरकार को काफी परेशान कर रहे थे. आप और आपके परिवार के सदस्य अनाप-शनाप काम करवा रहे थे.

लालू प्रसाद : भागने के पीछे जरूर कोई गूढ़ बात है. पीएम नरेंद्र मोदी सीएम नीतीश कुमार की कोई कमजोर नस पकड़ चुके हैं. हो सकता है कि भागलपुर का सृजन घोटाला हो. मुझे पता चला है कि नीतीश को दिल्ली बुलाकर पीएम ने कागज दिखा दिए हैं. उसी दिन से हांफ रहा है. देखना बीजेपी वाले नीतीश को चबा जाएंगे. इसकी आईडेन्टिटी धूल में मिला देंगे सब लोग मिलकर. देखते नहीं हो इतने दिन में इमेज जमीन के नीचे चली गई.

मैंने सरकार के काम में कभी दखलअंदाजी नहीं की. बेचारा मजबूर था इसीलिए मुझ पर ही खेलकर छान-पगहा तोड़कर भाग गया.

lalu yadav

फ़र्स्टपोस्ट: नीतीश कुमार के लोगों का यह भी आरोप है कि आप केंद्रीय वितमंत्री अरुण जेटली से मिले थे. प्रस्ताव दिया था कि हमको और हमारे परिवार को सीबीआई केस से मुक्त करवा दें तो सीएम को किनारे करके बिहार में बीजेपी सरकार बनवा देंगे. 

लालू प्रसाद : हम सपने में भी कभी ऐसा नहीं कर सकते हैं. सरासर झूठा आरोप है. हम कालिदास थोड़े ही हैं कि जिस डाल पर बैठे हैं, उसी को काट देंगे. अगर ऐसा करने की बात सोचेंगे तो मेरी पूरी राजनीतिक कमाई ही स्वाहा हो जाएगी. जैसे आज की तारीख में नीतीश कुमार की हो गई है.

फ़र्स्टपोस्ट: तो क्या नीतीश कुमार राजनीतिक रूप से खत्म हो गए हैं?

लालू प्रसाद : तुमको नहीं लगता है कि वो राजनीति से परमानेंट खत्म हो गए हैं. अब मेरी सीधी लड़ाई बीजेपी से होगी. नीतीश कुमार अब नरेंद्र मोदी के पास प्रार्थना करेंगे- हे प्रभो आनंददाता ज्ञान हमको दीजिए, हमको शरण लीजिए.

फ़र्स्टपोस्ट: अगर बीजेपी के लोग उन्हें ज्यादा परेशान करें और फिर आपके दरवाजे पर आ जाएं? तो क्या छोटे भाई को तड़पने के लिए छोड़ देंगे? दया नहीं आएगी?

लालू प्रसाद : मैंने एक फिल्म देखी थी जिसमें गाना था बोल राधा बोल संगम होगा कि नहीं? जवाब था, कभी नहीं, कभी नहीं, कभी नहीं. ऐसा ही होगा. उसे देखते ही अपना तीसरा नेत्र खोल दूंगा. नीतीश कहते हैं कि मोदी फ्रंट से लड़ते हैं. तो तुम क्या अंदर से लड़ते हो? भोले बाबा की भी कोई सीमा है.

(फिर अपनी कलाई दिखाकर) देखो ये काला धागा बनारस भैरों बाबा का है. बहुत चमत्कारी है. इसकी कृपा से छल कपट करने वालों की पहचानने की शक्ति प्राप्त हो जाती है. बाकी हमको कोई बता रहा था कि बीजेपी वाले धुक-धुकी में हैं कि वो फिर जाकर लालू का पैर न पकड़ लें.

फ़र्स्टपोस्ट: पटना यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में आपने शिरकत नहीं की? पीएम बिहार को लक्ष्मी यानी धन देने का वादा करके गए हैं. बीजेपी कह रही है कि बिहार में विकास पैदा हो गया है. कुछ ही वर्षों में राज्य स्वर्ग बन जाएगा.

लालू प्रसाद : कौवे की बारात में कोई हंस को क्यों बुलाएगा? प्रधानमंत्री सबको बेवकूफ बना कर चले गए. दूसरी तरफ नीतीश कुमार ने पीएम से केंद्रीय दर्जे की भीख मांगकर बिहार वासियों का सिर झुका दिया. इनको नहीं मालूम है कि अगला चुनाव जीतने के लिए पीएम देश भर में झूठ की रेवड़ी बांट रहे हैं.

किसान का पिसान निकाल दिया है. अब बोलते हैं कि 2022 में अनाज की कीमत दोगुनी करेंगे. 5 साल आगे तक मूर्ख बनाने की योजना इनके पास है. लेकिन इस बार जनता इनका कचूमर निकाल देगी. 2014 में कहा था कि 60 महीने में रामराज्य ला देंगे.

फ़र्स्टपोस्ट: लेकिन मोकामा की मीटिंग में पीएम ने बिहार को अब तक 55 हजार करोड़ की योजनाएं दे देने की बात की?

लालू प्रसाद : खजाने में पैसे ही नहीं है तो देंगे कहां से. नोटबंदी करके लक्ष्मी का अपमान किया गया और लक्ष्मी जी देश छोड़कर भाग गईं. हमने लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए देशवासियों से आग्रह किया है कि कुम्हार के बनाए दीपक में घी डालकर दिवाली के दिन जलाएं. माता प्रसन्न होकर वापस आ जाएंगी.

फ़र्स्टपोस्ट: अगले चुनाव में बीजेपी को पटकने के लिए किस प्रकार की रणनीति बना रहे हैं

लालू प्रसाद : बीजेपी अपने कुकर्मों से खुद सत्ता से बेदखल हो जाएगी. इसकी गलत नीतियों से देश भर में त्राहिमाम है. जनता मोदी को कुर्सी से नीचे उतार देगी. देख नहीं रहे हो कि गुरुदासपुर और केरल उपचुनाव में क्या हुआ? इलाहाबाद सहित देश के कई विश्वविद्यालय में छात्रों ने भगवा को दफन कर दिया. आक्रोश बढ़ता जा रहा है.

हम तो कांग्रेस सहित कई दलों के साथ मिलकर ऐसा फ्रंट बनाएंगे कि बीजेपी 2019 चुनाव के बाद 1984 वाली पोजीशन में आ जाएगी. हमको तो लगता है कि बीजेपी टूट जाएगी. भारी बगावत के स्वर उठ रहे हैं.

lalu yadav kanhaiya

फ़र्स्टपोस्ट- आप को तो राहुल गांधी नापसंद करते हैं. मुकदमों से बचाने के लिए लाए गए आर्डिनेन्स को उन्होंने सरेआम फाड़ दिया था.

लालू प्रसाद : उस वक्त राहुल गांधी के कान मेरे खिलाफ भरे गए थे. बाद में उन्हें भूल का अहसास हुआ. अब तो वो अच्छी तरह से जान गए हैं कि जुमला पार्टी को मेरे सहयोग के बिना जंग के मैदान में नहीं पछाड़ा जा सकता है.

फ़र्स्टपोस्ट- आप तो अगले महासंग्राम के पहले ही जेल के अंदर चले जाएंगे? भष्टाचार के कई केस आपके खिलाफ चल रहे हैं.

लालू प्रसाद : सब केस फर्जी हैं. ये बात सीबीआई के अफसर भी समझ गए हैं. हमको और हमारे परिवार को पॉलिटिकली खत्म करने के लिए एक साजिश के तहत एक-एक कर सारे मुकदमे कराए जा रहे हैं. सीबीआई अफसर बोल रहे थे कि जो आदमी रेलमंत्री रहकर विभाग को मुनाफे में ला दिया वो भ्रष्टाचारी नहीं हो सकता है.

फ़र्स्टपोस्ट- चर्चा है कि जांच एजेंसी इंटेरोगेशन के समय आपसे बदसलूकी भी करती है?

लालू प्रसाद : बिलकुल असत्य खबर है. अतिथि की तरह आदर सत्कार होता है. बढ़िया नाश्ता और भोजन मिलता है, खैनी भी. एक बार मैंने कहा कि बिना खैनी खाए मैं सवाल का जवाब नहीं दूंगा. खैनी का डिब्बा गाड़ी में छूट गया था. उन्हीं लोगों ने लाकर दिया. मैं खैनी खा-खाकर जवाब देता रहा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi