S M L

केजरीवाल को उनके ही हथियार से हराएंगे कपिल मिश्रा!

कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार की लड़ाई लड़ने के लिए आईएसी के मंच को पुनर्जीवित किया है

Bhasha | Published On: Jun 26, 2017 03:12 PM IST | Updated On: Jun 26, 2017 03:12 PM IST

0
केजरीवाल को उनके ही हथियार से हराएंगे कपिल मिश्रा!

मंत्री पद से बर्खास्त किए गए आम आदमी पार्टी (आप) विधायक कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उन्हीं के हथियारों से घेरने की रणनीति बनाई है. कपिल ने इस काम के लिए भ्रष्टाचार विरोधी मंच इंडिया अगेंस्ट करप्शन (आईएसी) और जनमत संग्रह को हथियार बनाया है.

आईएसी वही मंच है जिसके जरिए केजरीवाल ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सभी राजनीतिक दलों के नेताओं को घेरते हुये आंदोलन से राजनीति में आने का सफर तय किया था. सत्ता में आने पर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के मामले में जनमत संग्रह कराने को कहा था.

आम आदमी पार्टी के दिल्ली की सत्ता पर काबिज होने के बाद पार्टी द्वारा आईएसी से नाता तोड़ लेने के बाद संगठन लगभग निष्क्रिय था. लेकिन अब कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार की लड़ाई लड़ने के लिए आईएसी के मंच को पुनर्जीवित किया है.

कपिल मिश्रा ने कहा कि वह केजरीवाल के खिलाफ आईएसी के मंच से आंदोलन की शुरुआत उनके भ्रष्टाचार पर जनमत संग्रह से करेंगे.

केजरीवाल के विधानसभा क्षेत्र में जनमत संग्रह

आईएसी के पुराने नेताओं ने सोमवार को कपिल मिश्रा के साथ बैठक कर केजरीवाल सरकार में भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन तेज करने की रणनीति बनाई. इसके तहत दिल्ली की सभी सत्तर विधानसभा क्षेत्रों में रैली करने, पांच मंत्रियों के विधानसभा क्षेत्रों में उनके भ्रष्टाचार की प्रदर्शनी लगाने. और केजरीवाल के विधानसभा क्षेत्र नई दिल्ली में जनमत संग्रह कराया जाएगा.

कपिल मिश्रा ने कहा कि जल्दी ही संगठन के मंच से इस कार्ययोजना का खुलासा किया जायेगा. उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन के मंच का दुरूपयोग कर सत्ता तक का सफर तय किया है. अब आंदोलन के जरिए ही उनके भ्रष्टाचार को सार्वजनिक किया जाएगा.

मिश्रा ने बताया कि आप नेता कुमार विश्वास ने तीन दिन के अंदर पार्टी और दिल्ली सरकार के भ्रष्टाचार की शिकायतों पर अपना रूख साफ करने का भरोसा दिलाया है. उन्होंने कहा कि सोमवार को विश्वास को उन्होंने आप सरकार में भ्रष्टाचार के सबूतों के तौर पर 16 हजार पन्नों का दस्तावेज भेजा है. इसपर अब उन्हें कुमार विश्वास के जवाब का इंतजार है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi