S M L

'ताबूत घोटाला करने वालों से हमें देशभक्ति सीखने की जरूरत नहीं'

आम आदमी पार्टी ने कपिल मिश्रा पर बीजेपी की भाषा बोलने का आरोप लगाया है

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: May 10, 2017 10:35 PM IST

0
'ताबूत घोटाला करने वालों से हमें देशभक्ति सीखने की जरूरत नहीं'

पिछले कुछ दिनों से दिल्ली का राजनीतिक तापमान चरम पर पहुंच गया है. कपिल मिश्रा के बहाने बीजेपी और आप में आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर जो तीन दिन पहले शुरू हुआ था वह अब भी जारी है. रोज नए-नए आरोप और खुलासे हो रहे हैं. बीजेपी और आम आदमी पार्टी में लगातार आरोपों के बाण चल रहे हैं.

दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल पर दो करोड़ रुपए रिश्वत लेने के आरोप लगाया था. कपिल मिश्रा ने आप के कई और नेताओं पर कई तरह के गंभीर आरोप लगाए थे.

बीजेपी के ताबड़तोड़ हमले के बाद आम आदमी पार्टी भी अब आक्रामक मुद्रा में आ गई है. पिछले कई दिनों से डिफेंस मोड में रहने वाली आम आदमी पार्टी भी अब फ्रंटफुट पर बैटिंग कर रही है.

sanjay singh

संजय सिंह के फेसबुक वॉल से

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने कपिल मिश्रा पर बीजेपी की भाषा बोलने का आरोप लगाया है. संजय सिंह ने कहा कि ‘कपिल मिश्रा हू-ब-हू भारतीय जनता पार्टी की भाषा बोल रहे हैं.

संजय सिंह ने कहा कि हमारी विदेश यात्राओं को लेकर एक झूठ कपिल मिश्रा ने मीडिया में आकर बोला और बीजेपी के नेताओं ने उस झूठ को सच साबित करने में दिन-रात एक कर दिया है.

हमारे ऊपर यह आरोप लगाया जा रहा है कि हमने विदेशों में जाकर देश के खिलाफ काम किया है जबकि सच्चाई इससे बिल्कुल अलग है.

संजय सिंह ने कहा, ‘मैं देश को बताना चाहूंगा कि मैं उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर का रहने वाला हूं जहां मेरे पिताजी और माताजी अध्यापक रहे हैं और मैंने खुद माइनिंग में डिप्लोमा किया है. यूपी में समाजसेवा करने के लिए सामाजिक संस्था बनाई जिसके तहत गरीबों को कंबल बांटने से लेकर गरीब परिवारों के बच्चों को कपड़े और किताबें बांटने तक के समाजसेवा के काम किए हैं. अन्ना जी के आंदोलन में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए दिल्ली आया और आजतक यहां एक किराए के मकान में रहता हूं.'

संजय सिंह आगे कहते हैं, ‘विदेशी दौरों की बात करूं तो सबसे पहले नेपाल में गया तो भूकंप पीड़ितों की सहायता करने के लिए जिसके गवाह के तौर पर कुछ पत्रकार साथी मौजूद हैं जो हमारे साथ उस त्रासदी में वहां गए थे. रूस में एक परिचित के पारिवारिक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गया था जिसका टिकट भी हमारे उन्हीं परिचित ने कराया था. कनाडा और अमेरिका में पार्टी के काम से गया था जिसकी एक-एक तस्वीर मौजूद है जिनको हम सार्वजनिक भी कर रहे हैं, अब इसमें मैंने कौन सा देशद्रोह का काम कर दिया? ये कपिल मिश्रा और भाजपा के लोग बताएं.'

जहां तक बात है देशभक्ति और देशद्रोही की तो हमें बीजेपी से देशभक्ति सीखने की जरूरत नहीं है जो शहीदों के ताबूत में घोटाला करते हों, जो व्यापम का घोटाला करते हों, जो कोल ब्लॉक का घोटाला करते हों, जो आईपीएल में हजारों करोड़ रुपए का घोटाला करते हों, जो स्विस बैंक में कालाधन जमा रखने वालों को दोस्त बनाकर अपने साथ बिठाते हों.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi