गूगल के पार: विण्ढम फॉल की राजनीतिक उपेक्षा की कहानीगूगल के पार: विण्ढम फॉल की राजनीतिक उपेक्षा की कहानी
S M L

जीएसटी के बाद बिस्कुट महंगा न करने की मांग

एफबीएमआई का कहना है कि बिस्कुट साधारण प्रोडक्ट है, लिहाजा इस पर बहुत ज्यादा कर नहीं लगाना चाहिए

Bhasha | Published On: Feb 17, 2017 09:52 PM IST | Updated On: Feb 17, 2017 09:52 PM IST

जीएसटी के बाद बिस्कुट महंगा न करने की मांग

बिस्कुट बनाने वाली इकाइयों के शीर्ष संगठन फेडरेशन ऑफ बिस्कुट मैन्युफैक्चर्स ऑफ इंडिया (एफबीएमआई) ने जीएसटी परिषद से बिस्कुट को जीएसटी के न्यूनतम स्लैब में रखे जाने की मांग की है.

एफबीएमआई का कहना है कि बिस्कुट साधारण प्रोडक्ट है, लिहाजा इस पर बहुत ज्यादा कर नहीं लगाना चाहिए.

एफबीएमआई का कहना है कि जीएसटी ऊंचा रखने से इसका उत्पादन और उपभोग प्रभावित होगा.

वाणिज्य एवं उद्योग मंडल पीएचडी से जुड़े इस संगठन ने इस बारे में जीएसटी परिषद को एक ज्ञापन दिया है.

इसमें कहा गया है कि ‘बिस्कुट को खाद्य उत्पादों के लिए निर्धारित की जाने वाली जीएसटी दर के न्यूनतम स्लैब में रखा जाना चाहिए.’

 

(खबर कैसी लगी बताएं जरूर. आप हमें फेसबुक, ट्विटर और जी प्लस पर फॉलो भी कर सकते हैं.)

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi

लाइव

3rd T20I: Sri Lanka 41/1