S M L

हर हाल में जारी रहेगा गोरखालैंड आंदोलन: जीजेएम

गुरुंग ने कहा कि गोरखालैंड आंदोलन हमारे समुदाय के विकास की लड़ाई है

IANS | Published On: Jun 14, 2017 08:39 PM IST | Updated On: Jun 14, 2017 08:39 PM IST

हर हाल में जारी रहेगा गोरखालैंड आंदोलन: जीजेएम

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) द्वारा दार्जिलिंग  में अनिश्चितकालीन बंद के बीच पार्टी अध्यक्ष बिमल गुरुंग ने एक बार फिर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सरकार को चुनौती दी.

उन्होंने कहा, अलग गोरखालैंड राज्य के लिए आंदोलन 'किसी भी कीमत पर' जारी रहेगा. गुरुंग ने कहा, 'गोरखालैंड आंदोलन हमारे समुदाय के विकास की लड़ाई है. अन्य मांगें बाद में भी पूरी की जा सकती हैं, लेकिन हमारे लिए समुदाय की स्वतंत्रता पहले है. अगर समूचे केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) को भी यहां भेज दिया जाए, तो भी हमारा आंदोलन जारी रहेगा.'

राज्य पुलिस पर सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता की तरह काम करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कड़ी चेतावनी दी कि वे उनके आंदोलन से निपटने के लिए 'अलोकतांत्रित तरीकों' का इस्तेमाल न करें.

उन्होंने आरोप लगाया, 'हमारा आंदोलन और रैली लोकतांत्रित तरीके से आगे बढ़ रहा था. पुलिस ने हमें रोकने के लिए अलोकतांत्रिक तरीके अपनाए. वे (पुलिस) तृणमूल कार्यकर्ताओं की तरह काम कर रहे हैं.'

मिलकर काम करेंगे पहाड़ी इलाके के राजनीतिक दल 

गुरुंग ने चेतावनी भरे लहजे में कहा, 'डीएम और एसपी सड़कों पर कैंप कर रहे हैं. लेकिन, उन्हें इस बात से अवगत होना चाहिए कि जो लोग उनकी सुरक्षा कर रहे हैं, वे भी गोरखा हैं. उन्हें याद रखना चाहिए कि वे आने वाले दिनों में रात-दिन उनकी सुरक्षा नहीं कर पाएंगे.'

मंगलवार को हुई सर्वदलीय बैठक की ओर इशारा करते हुए उन्होंने दावा किया कि पहाड़ी इलाके के सभी राजनीतिक दलों ने मिलकर काम करने का फैसला किया है.

राज्य सरकार पर पहाड़ी इलाकों में 'राजनीतिक तानाशाही' का आरोप लगाते हुए गुरुंग ने पर्यटकों और वहां काम करने वाले लोगों से अपील की कि वे हालात पर विचार करें और यहां ठहरने पर फिर से सोचें.

उन्होंने आश्चर्य जताते हुए कहा, 'यहां लाठीचार्ज जैसी घटनाएं रोजाना हो रही हैं. ऐसे हालात में काम या पर्यटन कैसे संभव है.'

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi