S M L

'जय श्रीराम' बोलने वाले नीतीश के मंत्री ने मांगी माफी

खुर्शीद उर्फ फिरोज पश्चिमी चंपारण जिले के सिकटा विधानसभा के विधायक हैं

FP Staff Updated On: Jul 30, 2017 05:12 PM IST

0
'जय श्रीराम' बोलने वाले नीतीश के मंत्री ने मांगी माफी

'जय श्रीराम' का नारा लगाकर सुर्खियों में आने वाले बिहार सरकार के मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद ने आखिरकार माफी मांग ली है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने के बाद खुर्शीद ने यह फैसला लिया. उन्होंने कहा कि यदि उनके 'जय श्रीराम' नारे लगाने से किसी की भावना को ठेस पहुंची है तो वे माफी मांगते हैं.

दरअसल, 'जय श्रीराम' का नारा लगाकर सुर्खियों में आने वाले बिहार सरकार के मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद के खिलाफ इमारत-ए-शरिया ने फतवा जारी किया था. मुफ्ती सुहैल अहमद कासमी ने फतवा जारी करते हुए उन्हें इस्लाम से खारिज और मुर्तद (विश्वास नहीं करने वाला) करार दिया.

मुफ्ती के मुताबिक, जो शख्स 'जय श्रीराम' का नारा लगाए और कहे कि वह रहीम के साथ-साथ राम की भी पूजा करता है और हिन्दुस्तान के सभी धार्मिक स्थानों पर मत्था टेकता है- ऐसा शख्स इस्लाम से खारिज और मुर्तद है.

जदयू कोटे से मंत्री बने खुर्शीद ने इस फतवे के जवाब में पहले कहा था कि अगर बिहार के विकास और सामाजिक सौहार्द के लिये मुझे जय श्रीराम के नारे लगाने पड़े तो वह कभी इससे पीछे नहीं हटेंगे. खुर्शीद ने बिहार विधानसभा पोर्टिको के साथ-साथ मीडिया के कैमरों के सामने भी जय श्रीराम के नारे लगाए थे.

इस दौरान उन्होंने कैमरे के सामने हाथ में बंधे रक्षासूत्र भी दिखाए थे. खुर्शीद विधानसभा के बाहर जब मीडिया से इस मामले पर बात कर रहे थे तो उस दौरान भी उन्होंने 'जय श्रीराम' का नारा लगाया था. इतना ही नहीं उन्होंने यहां तक भी कहा कि महागठबंधन से अलग होने के लिए उन्होंने मनोकामना मंदिर में मन्नत भी मांगी थी. नीतीश की नई कैबिनेट में खुर्शीद को अल्पसंख्यक मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है.

खुर्शीद उर्फ फिरोज पश्चिमी चंपारण जिले के सिकटा विधानसभा के विधायक हैं. उन्होंने कहा था कि तेजस्वी और लालू परिवार से बिहार को छुटकारा मिल गया है.

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi