S M L

जून के पहले हफ्ते में ईवीएम की ईमानदारी परखने का ओपन चैलेंज

चुनाव आयोग शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राजनीतिक दलों को ईवीएम हैक करने के लिए आमंत्रण देने की तारीख का ऐलान करेगा

Bhasha | Published On: May 19, 2017 04:53 PM IST | Updated On: May 19, 2017 06:25 PM IST

0
जून के पहले हफ्ते में ईवीएम की ईमानदारी परखने का ओपन चैलेंज

चुनाव आयोग ने ईवीएम की ईमानदारी साबित करने के लिए राजनीतिक दलों को खुली चुनौती देने की तैयारी कर ली है. आयोग शनिवार को इसकी तारीख का ऐलान करेगा.

चुनाव आयोग की ओर से शुक्रवार को जारी आधिकारिक बयान में इसकी जानकारी दी गई. मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) नसीम जैदी ने 12 मई को इस मुद्दे पर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद ईवीएम में गड़बड़ी के राजनीतिक दलों के दावे को सही साबित करने का मौका देने की घोषणा की थी.

आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राजनीतिक दलों को जून के पहले सप्ताह में ईवीएम में गड़बड़ी करने की चुनौती दी जा सकती है. इसके लिये आयोग शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर खुली चुनौती की तारीख का ऐलान करेगा.

EC announces Poll schedule for five states

चुनाव आयोग शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राजनीतिक दलों के लिए ईवीएम हैक करने की तारीख का ऐलान करेगा (फोटो: पीटीआई)

अधिकारी ने बताया कि आयोग द्वारा सभी सात नेशनल पार्टियों और 48 रीजनल पार्टियों को खुली चुनौती में हिस्सा लेने के लिए बुलाया जाएगा. इस दौरान आयोग चुनौती में शामिल होने के इच्छुक दल को हाल ही में संपन्न हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के किसी भी मतदान केंद्र की मशीन के साथ छेड़छाड़ करने का विकल्प चुनने के लिए एक सप्ताह का समय देगा.

ईवीएम में गड़बड़ी साबित करने के लिए सबको अलग-अलग मौका 

हर राजनीतिक दल को ईवीएम में गड़बड़ी करने का अपना दावा सही साबित करने के लिये अलग-अलग मौका दिया जाएगा.

इस दौरान आयोग भविष्य में होने वाले सभी चुनाव वीवीपेट लगे ईवीएम से कराने की भी आधिकारिक घोषणा करेगा. इससे पहले दिल्ली के विज्ञान भवन में वीवीपेट युक्त ईवीएम की कार्यप्रणाली का मीडिया के सामने लाइव प्रदर्शन किया जाएगा.

अधिकारी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने आयोग को 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले वीवीपेट युक्त ईवीएम से मतदान कराने की तैयारी करने का आदेश दिया था. इसके इस्तेमाल को सुनिश्चित करने के लिये आयोग ने इस साल के अंत में होने वाले गुजरात और हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भी वीवीपेट युक्त ईवीएम से चुनाव कराने की तैयारी कर ली है.

election-commission

ईवीएम को लेकर उठते सवालों को देखते हुए चुनाव आयोग ने भविष्य में सभी चुनाव वीवीपेट युक्त मशीनों के जरिए कराने का फैसला किया है

उन्होंने बताया कि दोनों राज्यों के विधानसभा चुनाव कराने के लिये आयोग के पास लगभग 50 हजार वीवीपेट मशीनें पहले से मौजूद हैं. आयोग ने और मशीनों की खरीद प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी तेज कर दी है. जल्दी ही इसके लिये टेंडर जारी किए जाएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi