S M L

जो प्रधानमंत्री मोदी चाहेंगे क्या हमें वही खाना होगा: डीएमके

डीएमके नेता एमके स्टालिन ने केंद्र से अधिसूचना वापस नहीं लेने पर ‘एक और मरीना क्रांति’ होने की चेतावनी दी

Bhasha Updated On: May 31, 2017 10:57 PM IST

0
जो प्रधानमंत्री मोदी चाहेंगे क्या हमें वही खाना होगा: डीएमके

वध के लिए जानवरों की बिक्री पर पाबंदी के मुद्दे पर डीएमके ने केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना की है. डीएमके ने कहा ऐसे हालात पैदा हो गए हैं कि ‘हमें वही चीजें खानी होंगी जो प्रधानमंत्री चाहते हैं.’

पाबंदी के खिलाफ डीएमके की ओर से चेन्नई में प्रदर्शन का आयोजन किया था. इस दौरान पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन ने इस बारे में हाल में जारी अधिसूचना वापस नहीं लेने पर ‘एक और मरीना क्रांति’ होने की चेतावनी दी.

स्टालिन ने आरोप लगाया कि तीन साल की अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए केंद्र सरकार ऐसी अधिसूचनाएं ला रही है. उन्होंने इस मसले पर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी की ‘चुप्पी’ को लेकर भी सवाल खड़ा किया.

narendra modi

केंद्र सरकार ने हाल ही में वध के लिए मवेशियों की खरीद-बिक्री पर पाबंदी को लेकर अधिसूचना जारी की है

केंद्र सरकार ने कोई भी वादा पूरा नहीं किया

साल 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी की ओर से किए गए वादों की याद दिलाते हुए स्टालिन ने कहा कि 'सरकार ने काला धन वापस लाने और नौकरियां पैदा करने समेत कोई भी वादा पूरा नहीं किया.'

उन्होंने दावा किया कि ‘ऐसे में यह पाबंदी, हम क्या खाते हैं उस पर बंदिशें लगाई जा रही हैं. ऐसे हालात पैदा हो गए हैं कि हम वही खा सकते हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहें. संविधान की ओर से दी गई नागरिक स्वतंत्रता की गारंटी छीनी जा रही हैं. लोगों से उनकी आजादी छीनी जा रही है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi