S M L

डीडीसीए मानहानि विवाद: कोर्ट ने जेठमलानी को पीएम मोदी का नाम लेने से किया मना

जेठमलानी जेटली से जिरह कर रहे थे जिनके पास मोदी कैबिनेट में वित्त और रक्षा मंत्रालय का जिम्मा है

Bhasha | Published On: May 16, 2017 10:22 AM IST | Updated On: May 16, 2017 10:22 AM IST

0
डीडीसीए मानहानि विवाद: कोर्ट ने जेठमलानी को पीएम मोदी का नाम लेने से किया मना

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली द्वारा दायर मानहानि केस में अरविंद केजरीवाल के वकील राम जेठमलानी को दिल्ली हाईकोर्ट ने पीएम मोदी का नाम सुनवाई के दौरान लेने की अनुमति नहीं दी. केस से जुड़े सवालों में पीएम मोदी का नाम लेने पर कोर्ट ने राम जेठमलानी को पीएम का नाम लेने से मना कर दिया.

संयुक्त रजिस्ट्रार दीपाली शर्मा ने जेठमलानी के इन सवालों को अनुमति नहीं दी कि क्या जेटली ने प्रधानमंत्री से सलाह मशविरा करने के बाद वाद दायर किया है और क्या वह मोदी को अपने बचाव में गवाह बनाना चाहते हैं.

जब जेठमलानी ने जेटली से वाद दायर करने के लिए प्रधानमंत्री से सलाह मशविरा करने के बारे में पूछा तो मंत्री के वकील ने इस सवाल की प्रासंगिकता पूछी जिसे अदालत ने स्वीकार किया.

संयुक्त रजिस्ट्रार ने कहा कि सवाल को अनुमति नहीं दी जाती क्योंकि इसका इस मामले के मुद्दों से कोई संबंध नहीं है.

साल 2013 में बीजेपी से छह साल के लिए निष्कासित किए गए जेठमलानी ने जेटली से यह भी पूछा कि चूंकि आप कैबिनेट में मंत्री हैं तो आपके लिए सर्वश्रेष्ठ चरित्र गवाह प्रधानमंत्री होने चाहिए. क्या आप उनसे पूछताछ करना चाहते हैं?

जेटली के वकील राजीव नायर और संदीप सेठी द्वारा सवाल का विरोध करने के बाद संयुक्त रजिस्ट्रार ने कहा कि सवाल को अनुमति नहीं दी जाती क्योंकि याचिकाकर्ता के गवाहों की सूची रिकॉर्ड में है.

जेठमलानी जेटली से जिरह कर रहे थे जिनके पास मोदी कैबिनेट में वित्त और रक्षा मंत्रालय का जिम्मा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi