S M L

योगी सरकार और बीजेपी दे रही है अपराधियों को शह: सीपीआई

सीपीआई के सचिव ने कहा कि सवा दो माह की इन घटनाओं से जाहिर है कि मुख्यमंत्री योगी से राज्य संभल नहीं रहा

Bhasha | Published On: May 25, 2017 06:47 PM IST | Updated On: May 25, 2017 06:47 PM IST

0
योगी सरकार और बीजेपी दे रही है अपराधियों को शह: सीपीआई

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) ने उत्तर प्रदेश के बिगड़ते हालात पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए आरोप लगाया है कि राज्य की खराब कानून व्यवस्था की घटनाओं में से अधिकतर के पीछे सत्ताधारी दल के लोग हैं.

पार्टी ने कहा कि जब तक सत्ताधारी दल अपराधी गिरोहों को संरक्षण देना बंद नहीं करेगी तब तक प्रदेश के हालात सुधर नहीं सकते.

सीपीआई के प्रदेश सचिव डा. गिरीश ने एक बयान में कहा कि बुधवार को जेवर के पास यमुना एक्सप्रेसवे पर एक परिवार के वाहन को रोककर महिलाओं से सामूहिक बलात्कार, हत्या और लूट की घटना ने हर किसी को परेशान कर दिया है.

यह घटना राज्य सरकार के माथे पर कलंक है. घटना की जितनी निंदा की जाए कम है. असली अपराधियों को तत्काल पकड़े जाने, दोषी पुलिसकर्मियों को सजा और पीड़ित परिवार की तत्काल मदद किए जाने की जरूरत है.

पूरे प्रदेश में हो रही है गुंडागर्दी 

सीपीआई के राज्य सचिव ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री आए दिन दरोगा की तरह धमकियां दे रहे हैं, लेकिन उन्हीं की पार्टी के सांसद, विधायक और कार्यकर्ता अराजकता फैला रहे हैं.

उन्होंने कहा कि सहारनपुर आज भी सुलग रहा है. संभल, मुरादाबाद, मेरठ, बुलंदशहर, मथुरा, अलीगढ़, आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, कानपुर, पीलीभीत, लखनऊ, शाहजहांपुर में बड़ी-बड़ी वारदातें हो रही हैं.

सांप्रदायिक, सामंती तत्व और पेशेवर गुंडे खुलकर अराजकता फैला रहे हैं. दलितों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं, अन्य कमजोरों और यहां तक कि व्यापारियों को निशाना बनाया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि सवा दो माह की इन घटनाओं से जाहिर है कि मुख्यमंत्री योगी से राज्य संभल नहीं रहा. उनकी और बीजेपी की चिंता प्रदेश के हालात सुधारना कम और बीजेपी के बिगड़ते हालातों को सुधारने की है.

उन्होंने कहा कि योगी सरकार शिक्षा, शासन और प्रशासन में संघ के एजेंडे को लादने में मशगूल है. योगी अपनी नाकामियों पर संजीदा होने की बजाय विपक्ष पर हमला कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि यदि योगी बीजेपी के लिए अनमोल रत्न हैं तो मोदी-अमित शाह को उन्हें केंद्र में बुला कर बड़ी से बड़ी जिम्मेदारी सौंपनी चाहिए क्योंकि इसी के लिए उत्तर प्रदेश की जनता ने उन्हें सांसद भी बनाया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi