विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

अमित शाह के मिशन 350+ के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को मिले ये निर्देश

मिशन 2019 के लिए ही 21 अगस्त को अमित शाह ने बीजेपी शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है

FP Staff Updated On: Aug 19, 2017 02:17 PM IST

0
अमित शाह के मिशन 350+ के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को मिले ये निर्देश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अभी से 2019 के लिए कमर कस ली है. 2019 में 2014 का भी रिकॉर्ड तोड़ने के लिए पार्टी के पदाधिकारियों को दिशा-निर्देश मिल गए हैं. पीएम मोदी का दिया गया नारा ‘संकल्प से सिद्धि’ तक इसी की तैयारी माना जा रहा है. कार्यकर्ताओं से कह दिया गया है कि 2017 से 2022 के बीच इसे करके दिखाना है. बीजेपी का साफ कहना है कि अब चुनाव होने का इंतजार नहीं करना है. पार्टी अब हर दिन चुनावी मोड में ही रहेगी.

सरकार और पार्टी दोनों फ्रंट पर काम

‘संकल्प से सिद्धि’ के मंत्र से पीएम मोदी पूरे देश की जनता को जोड़ने की तैयारी कर रहे हैं. इसके लिए सरकार और पार्टी दोनों ही फ्रंट पर काम किया जा रहा है. इसी के चलते मंत्री भी अब खुलकर पार्टी के कामकाज में सक्रिय दिख रहे हैं. यानी, पार्टी और सरकार दोनों ही फ्रंट पर यह काम किया जा रहा है. सरकार अपने इस मिशन में जनता को भी पूरी तरीके से जोड़ रही है.

फील गुड से लिया सबक

फील गुड से सबक लेते हुए बीजेपी इस बार किसी मुगालते में नहीं रहना चाहती. शायद इसीलिए किसी भी स्तर पर किसी प्रकार की गलती न होने की कोशिश की जा रही है. पीएम नरेंद्र मोदी की कार्यशैली भी ऐसी है कि वे न सिर्फ खुद मोर्चा संभालते हैं, बल्कि पार्टी कार्यकर्ताओं से लेकर पदाधिकारियों तक को प्रेरित करते रहते हैं. उन्होंने सांसदों को सीधा निर्देश दिया है कि वे संसद से लेकर सड़क तक जनता से जुड़े रहें. सिर्फ सांसद ही नहीं, मंत्री से लेकर आम कार्यकर्ता तक हर रोज जनता से जुड़े.

जनता से जुड़ाव सबसे जरूरी

अब वो दिन गए जब जनता ढूंढती थी कि उनके इलाके का सांसद कहां है? प्रधानमंत्री ने सांसदों से सीधे तौर पर कहा है कि जनता से जुड़ाव किसी भी कीमत पर नहीं टूटना चाहिए. पीएम मोदी कहते रहे हैं कि ‘न सोऊंगा न सोने दूंगा’ और ‘न खाऊंगा न खाने दूंगा‘. इसी तर्ज पर बीजेपी को काम करना पड़ रहा है. मिशन 2019 के लिए ही 21 अगस्त को उन्होंने बीजेपी शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है. इस बैठक में सभी मुख्यमंत्रियों को आम चुनाव में जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने का मंत्र दिया जाएगा.

युवाओं को लुभाने की कोशिश

पीएम मोदी का साफ निर्देश है कि अब सरकार के कामों को जनता तक ले जाना है. जनता को सरकारी की उज्ज्वला जैसी योजनाओं से होने वाले लाभ के बारे में बताना है. इस काम में सिर्फ कार्यकर्ताओं की भागीदारी नहीं होगी, बल्कि मंत्रियों तक को इस काम में जुटना होगा. मिशन 2019 फतह करने के लिए पीएम मोदी ऐसे युवाओं को भी लुभाने की कोशिश करेंगे जो 2019 में पहली बार वोट देंगे. न्यू इंडिया, यंग इंडिया और स्किल इंडिया ऐसे युवाओं को खींचने में कारगर साबित होंगे.

चाल-चरित्र और चेहरा बदला

बीजेपी की इस नई रणनीति के कई मायने हैं. बीते कुछ समय में पार्टी ने अपना चाल-चरित्र और चेहरा बदला है.  स्मार्ट सिटी और बुलेट ट्रेन से दूर अब बीजेपी गांव और गरीबों की पार्टी बनती जा रही है. पीएम मोदी के हालिया भाषणों में भी इसकी छाप दिखती है. अमित शाह ने हाल ही में कैडर से कहा है कि इस बार पार्टी को 150 ऐसी सीटों पर जीत दर्ज करनी है जहां वे नंबर दो पर है या फिर कभी नहीं जीती. इसीलिए मंत्रियों को साफ-साफ कह दिया गया है कि अपनी-अपनी सीटें चुन लें और उस पर मेहनत करें. जितनी घोषणाएं करनी थीं, वे कर ली गई हैं. अब पार्टी का सिर्फ एक मिशन है कि जीत कैसे मिले.

(न्यूज़18 के लिए अमिताभ सिन्हा की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi