S M L

‘शॉटगन’ का केजरी प्रेम, लालू-सुशील मोदी को ‘खामोश’ रहने की नसीहत

अपनों पर निशाने और गैरों पर मेहरबानी की वजह से बीजेपी के 'शत्रु' बनते जा रहे हैं.

Amitesh Amitesh Updated On: May 22, 2017 02:39 PM IST

0
‘शॉटगन’ का केजरी प्रेम, लालू-सुशील मोदी को ‘खामोश’ रहने की नसीहत

बीजेपी नेता और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा का अरविंद केजरीवाल को लेकर प्रेम छलक पड़ा है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तारीफ करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल की जनता के भीतर साख सबसे ज्यादा है. शत्रुघ्न सिन्हा का मानना है कि अबतक वो काफी राजनेताओं से मिले हैं. लेकिन, उनमें केजरीवाल एक अलग किस्म के नेता हैं जिनकी जनता के भीतर स्वीकार्यता ज्यादा है.

शत्रुघ्न सिन्हा ने केजरीवाल की तारीफ में और भी कसीदे पढ़े हैं. बीजेपी नेता ने आप संयोजक को समाज के लिए संघर्ष करने वाला नेता बताया है.

अरविंद केजरीवाल के लिए अपनी धुर-विरोधी बीजेपी के किसी नेता की तरफ से इस कदर की गई तारीफ थोड़ी राहत तो जरूर दे रही होगी. लेकिन शत्रुघ्न सिन्हा की तरफ से अपनी पार्टी के धुर-विरोधी की तारीफ शायद बीजेपी को रास नहीं आ रही होगी.

Arvind-Kejriwal

अपने बयानों के तीर से बीजेपी नेता और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा पहले भी लगातार बीजेपी आलाकमान के लिए मुश्किलें खड़ी करते रहे हैं. कभी लालू-नीतीश की तारीफ के जरिए तो कभी अपनी ही पार्टी के लोगों के उपर सवाल खड़ा कर शत्रुघ्न सिन्हा ने कई बार बीजेपी नेताओं को भी सकते में डाल दिया है.

दरअसल शत्रुघ्न सिन्हा पार्टी आलाकमान से पहले से ही नाराज चल रहे हैं. रह-रह कर उनकी नाराजगी भी कई मौकों पर बाहर आ जाती है. नाराजगी कभी बयानों के जरिए तो कभी ट्वीट के जरिए सामने आती है. शायद पार्टी के भीतर अपनी उपेक्षा से शत्रुघ्न सिन्हा नाराज रहते हैं.

उनको इस बात का मलाल रहता है कि पार्टी के भीतर उनको उस तरह का महत्व नहीं मिल पाता है जिसके वो हकदार हैं. न तो उनको पार्टी के भीतर संगठन में और न ही सरकार में वो जगह मिली है.

शायद यही मलाल शत्रुघ्न सिन्हा के अंदर है जिसे वो पार्टी फोरम के बजाए मीडिया या सोशल मीडिया के माध्यम से बाहर निकाल देते हैं.

बीजेपी जहां एक तरफ अरविंद केजरीवाल से दिल्ली में बडी लड़ाई लड़ कर उन्हें हर मोर्चे पर घेरने की कोशिश कर रही है. वहीं उनकी ही पार्टी के नेता ने केजरीवाल को उस घेरे से बाहर निकलने में मदद की कोशिश है.

शत्रुघ्न सिन्हा केजरीवाल को समर्थन देने भर के बाद नहीं रुके बल्कि अपनी ही पार्टी के नेता सुशील मोदी को नसीहत भी दे दी.

sushil yogi-lalu yadav

उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि नकारात्मक राजनीति और आरोप-प्रत्यारोप के सिलसिले को बंद करने का वक्त आ गया है. इसे बंद कीजिए.

सिन्हा ने अपनी ही पार्टी के बिहार विधानमंडल दल के नेता सुशील मोदी और आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव को खरी-खोटी सुनाते हुए कहा है कि आप लोगों ने नकारात्मक राजनीति को चरम पर पहुंचा दिया है. अब बहुत हुआ. इसे बंद कीजिए.

शत्रुघ्न सिन्हा के इस ट्वीट के बाद बीजेपी के नेता सकते में हैं. सब चुप हैं. लेकिन सुशील मोदी ने ट्वीट कर इस का उसी लहजे में जवाब दिया है. सुशील मोदी ने शत्रुघ्न सिन्हा को गद्दार तक कह डाला.

सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में कहा है कि जरूरी नहीं है कि जो शख्स मशहूर हैं उनपर ऐतबार किया जाए, जितनी जल्दी हो घर से गद्दारों को बाहर किया जाए. जिस लालू की बेनामी संपत्ति के  मामले में नीतीश नहीं उतरे उसके बचाव में बीजेपी के ‘शत्रु’ कूद पड़े.

शत्रुघ्न सिन्हा की नाराजगी आने वाले दिनों में उनके कदम को लेकर बार-बार शंका पैदा करती रहती है. अपनों पर निशाने और गैरों पर मेहरबानी शायद शत्रुघ्न सिन्हा की पार्टी को ही रास नहीं आए.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi