S M L

शिवसेना की पहेली, काम में ‘जीरो’ पर चुनावों में ‘हीरो’ क्यों है बीजेपी?

शिवसेना ने कहा कि हार के बाद भी वह ईवीएम की खराबी को जिम्मेदार नहीं ठहराएगी

Bhasha | Published On: Apr 24, 2017 07:45 PM IST | Updated On: Apr 24, 2017 08:29 PM IST

शिवसेना की पहेली, काम में ‘जीरो’ पर चुनावों में ‘हीरो’ क्यों है बीजेपी?

अपनी सहयोगी पार्टी बीजेपी को ‘काम में जीरो पर चुनावों में हीरो’ करार देते हुए शिवसेना ने सोमवार कहा कि महाराष्ट्र में हाल के निकाय चुनावों में अपनी हार के लिए वह ‘त्रुटिपूर्ण ईवीएम’ को जिम्मेदार नहीं ठहराएगी.

अपने मुखपत्र ‘सामना’ में लिखे गए एक संपादकीय में शिवसेना ने कहा, ‘एक वक्त ऐसा था जब कांग्रेस हर चुनाव जीता करती थी. वे काम में जीरो थे, लेकिन चुनावों में हीरो थे. आज बीजेपी का हाल भी ऐसा ही है.’

पिछले 19 अप्रैल को राज्य के जिन तीन नगर निकायों के लिए चुनाव हुए उनमें से बीजेपी ने शुक्रवार को लातूर और चंद्रपुर नगर निगमों में जीत दर्ज की. परभनी नगर निगम में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी.

बीजेपी की जीत शोध का विषय

शिवसेना के पास लातूर के निवर्तमान सदन में छह सीटें थीं, लेकिन इस बार वह इस सीट पर खाता भी नहीं खोल सकी.

बहरहाल, पार्टी ने कहा कि हार के बाद भी वह ईवीएम की खराबी को जिम्मेदार नहीं ठहराएगी.

शिवसेना ने कहा, ‘इस बार शिवसेना अपना खाता भी नहीं खोल पाई. बीजेपी की बड़ी जीत के लिए हम खराब ईवीएम को जिम्मेदार नहीं ठहराएंगे बल्कि एक शोध किया जाना चाहिए कि आखिर लोग क्यों बीजेपी की तरफ आकर्षित हो रहे हैं, किसान और युवा बीजेपी के साथ ऐसे क्यों खड़े हैं जैसे कोई सांप किसी सेपेरे के पीछे-पीछे रहता है.’

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi

लाइव

3rd ODI: England 65/6David Willey on strike