S M L

नीतीश कुमार की गोरक्षकों को सलाह, गोशाला बनाकर करें लावारिस पशुओं की सेवा

नीतीश कुमार ने कहा बिहार में गोहत्या वर्जित है और ये कानून बहुत पहले से है

Bhasha | Published On: Jun 06, 2017 11:46 AM IST | Updated On: Jun 06, 2017 12:34 PM IST

0
नीतीश कुमार की गोरक्षकों को सलाह, गोशाला बनाकर करें लावारिस पशुओं की सेवा

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी और गोरक्षकों का मजाक उड़ाते हुए सोमवार को कहा कि गोरक्षक जो अपने आपको पशु और गाय के प्रति संवेदनशील कहते हैं, उनका यह पहला कर्तव्य है कि सड़क पर लावारिस रूप से घूम रहे जानवरों के लिए विशेष गोशाला बनाकर उनको उसमें रखें और उसकी सेवा करें.

सोमवार को सचिवालय में आयोजित लोकसंवाद के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान गोहत्या के संबंध में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए नीतीश ने कहा कि बिहार में गो-हत्या वर्जित है. यह आज का कानून नहीं बहुत पहले से बिहार में गो-हत्या वर्जित है. यहां के लोगों की मानसिकता गाय की हत्या की नहीं रही है.

उन्होंने बीजेपी के सहयोगी संगठन गोरक्षक दल पर निशाना साधते हुए कहा कि सड़क पर लावारिस पशु घूमते रहते हैं, जिस कारण से बहुत दुर्घटनाएं घटती हैं. गोरक्षकों को इन लावारिस पशुओं का पालन-पोषण करना चाहिए.

प्लास्टिक खाने से कई जानवर मर रहे हैं

नीतीश ने कहा कि प्लास्टिक खाकर कितने जानवर मर रहे हैं. गोरक्षक जो अपने आपको पशु और गाय के प्रति संवेदनशील कहते हैं, उनका यह पहला कर्तव्य है कि सड़क पर लावारिस घूम रहे जानवरों के लिए विशेष गोशाला बनाकर उनको उसमें रखें और उसकी सेवा करें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे पटना में इस तरह का प्रयोग करने जा रहा हैं. उन्होंने कहा कि गोहत्या के नाम पर अगर मूल समस्याओं से लोगों का ध्यान हटाया जाए तो हम उसके खिलाफ हैं.

A cow walks amidst the debris of burnt houses after recent wildfires in the Siberian settlement of Strelka, located on the bank of the Angara River in Krasnoyarsk region, Russia, May 25, 2017. REUTERS/Ilya Naymushin - RTX37L2I

कश्मीर केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र का मामला

कश्मीर मसले पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में नीतीश ने कहा कि कश्मीर की स्थिति बहुत संवेदनशील है. केंद्र सरकार को सभी दलों को साथ लेकर कार्रवाई करने के लिए पहल करनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि सभी दलों को कश्मीर समस्या में शामिल करना चाहिए. कश्मीर भारत का अविभाज्य अंग है. पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भी भारत का ही हिस्सा है यही हम सभी भारतीयों की सोच है. उन्होंने कहा कि कश्मीर समस्या का समाधान केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र का मामला है.

केंद्र सरकार ने पूरे नहीं किए वादे

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के होने वाले बिहार दौरे और केंद्र सरकार के तीन साल पूरा होने पर मोदी फेस्ट के आयोजन के संबंध में पूछे गए सवाल पर नीतीश ने कहा कि चुनाव के दौरान जो भी वादे किए गए थे उसकी कसौटी पर सरकार खरी नहीं उतरी है.

उन्होंने कहा कि जो वादा किया गया था उसके अनुपात में कार्य नहीं किया गया. रोजगार उपलब्ध कराने के संबंध में सरकार ने जितना वादा किया था उपलब्धि उसके अनुपात में कम रही. किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर पचास प्रतिशत का मुनाफा जोड़कर नया समर्थन मूल्य निर्धारित करने की बात कही गई थी जिसे अभी तक पूरा नहीं किया गया है. वादों के अनुरूप काम नहीं हुआ है.

बीजेपी को बिहार के बीजेपी नेतृत्व पर भरोसा नहीं

योगी आदित्यनाथ के बिहार आने के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पार्टी का विषय है. बीजेपी के नेतृत्व को बिहार के बीजेपी नेतृत्व पर विश्वास नहीं है इसलिए बाहर से नेता बुलाए जा रहे हैं.

राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव के बारे पूछे जाने पर नीतीश ने कहा कि केंद्र में सत्ताधारी पार्टी को आम सहमति बनाने की पहल करनी चाहिए अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो विपक्ष अपना उम्मीदवार खड़ा करेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi