S M L

चंद्रशेखर की रिहाई के लिए दिल्ली की सड़कों पर उतरी भीम आर्मी

चंद्रशेखर की मां कमलेश देवी ने कहा कि मुझे नरेंद्र मोदी सरकार या यूपी सरकार से कोई उम्मीद नहीं है

Bhasha Updated On: Jun 18, 2017 08:09 PM IST

0
चंद्रशेखर की रिहाई के लिए दिल्ली की सड़कों पर उतरी भीम आर्मी

भीम आर्मी के बैनर तले रविवार को बड़ी संख्या में दलित युवक सड़कों पर उतर आए. उत्तर प्रदेश में हुई जातीय हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए ये अपने संगठन प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को रिहा करने की मांग कर रहे हैं. पिछले एक महीने से भी कम समय में दूसरी बार ऐसा प्रदर्शन हुआ है.

पुलिस के मुताबिक, करीब 2500 लोगों की भीड़ सड़कों पर उतर आई है. इनमें चंद्रशेखर की मां कमलेश देवी, भाई भगत सिंह और कमल किशोर और बीएसपी के संस्थापक कांशी राम की बहन स्वर्ण कौर सहित कई लोग शामिल हैं.

संसद मार्ग पुलिस स्टेशन और नई दिल्ली नगरपालिका परिषद सम्मेलन केंद्र के बीच का रास्ता नीले रंग में रंग गया. चारों तरफ सिर्फ 'जय भीम' के नारे गूंज रहे हैं. सुबह दस बजे से इस पूरे इलाके में उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब के प्रदर्शनकारी जमा हो गए थे.

योगी के सीएम बनने के बाद शुरू हुई हिंसा

New Delhi: Bhim Sena supporters holding a protest over the arrest of their leader Chandrashekhar and other leaders at Jantar Mantar in New Delhi on Sunday. Photo by Kamal Singh(PTI6_18_2017_000082B)

कमलेश देवी ने कहा, ‘मैं अपने बेटे की रिहाई तक प्रदर्शन करूंगी. धरने पर बेठूंगी और अनिश्चितकालीन उपवास करूंगी. हम लड़ेंगे. मुझे नरेंद्र मोदी सरकार या उत्तर प्रदेश सरकार से कोई उम्मीद नहीं है. खासकर इसलिए क्योंकि योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद हिंसा शुरू हुई.'

स्वर्ण कौर ने कहा, ' बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने मेरे भाई के काम पर अपना पूरा करियर बनाया. यह युवाओं के नेतृत्व में शुरू हुआ एक नया आंदोलन है. जहां भी अन्याय होगा, युवा खड़े होंगे.'

हालांकि प्रदर्शन के दौरान संगठन के सदस्यों में मतभेद दिखे जब आयोजकों ने एक सदस्य को मंच से हटाते हुए उस पर आंदोलन को 'हाईजैक' करने का आरोप लगाया. आयोजकों ने संघर्ष में मारे गए लोगों के लिए फंड भी जुटाया है. जिन लोगों ने जितना फंड दिया था, उनको उस हिसाब से बोलने का वक्त दिया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi