विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

बांग्लादेशी प्रधानमंत्री ने अजमेर दरगाह पर जियारत की

शेख हसीना ने दरगाह के जन्नती गेट पर नमाज अदा की और ख्वाजा के लिए फातिहा भी पढ़ा

Bhasha Updated On: Apr 09, 2017 07:18 PM IST

0
बांग्लादेशी प्रधानमंत्री ने अजमेर दरगाह पर जियारत की

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने रविवार को अजमेर स्थित ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर जियारत की और 12वीं सदी के इस सूफी की कब्र पर चादर चढ़ाई.

शेख हसीना यहां हेलीकॉप्टर से पहुंची और उनके साथ 26 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी था. वह सुबह 10:30 बजे दरगाह पर पहुंची और दरगाह की अंजुमन कमेटी के पदाधिकारियों ने उनकी अगवानी की.

उन्होंने दरगाह पर करीब 15 मिनट तक जियारत की और वहां करीब एक घंटे तक रहीं.

ख्वाजा के लिए फातिहा भी पढ़ा 

शेख हसीना ने दरगाह के जन्नती गेट पर नमाज अदा की और ख्वाजा के लिए फातिहा भी पढ़ा.

दरगाह के खादिम कलीमुद्दीन चिश्ती ने बांग्लादेशी प्रधानमंत्री को तबरूख (प्रसाद) और स्कॉर्फ भेंट किया.

अंजुमन कमेटी ने हसीना के सम्मान में एक स्वागत संबोधन दिया. वह कुछ देर के लिए सर्किट हाउस में रुकीं और दोपहर के समय अजमेर से रवाना हो गईं.

बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम मामलों के मंत्री ऐकेएम मुजम्मिल हक, जल संसाधन मंत्री अनीसुल इस्लाम महमूद और कानून मंत्री अनीसुल हक भी शेख हसीना के साथ थे.

उन्होंने 13 जनवरी, 2010 को अपने परिवार के साथ दरगाह पर जियारत की थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi