S M L

चुनाव आयोग ने पीएम के आगे घुटने टेके: अरविंद केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि आरबीआई और सीबीआई की तरह ही चुनाव आयोग ने भी मोदीजी के समक्ष पूरी तरह घुटने टेक दिए हैं.

IANS Updated On: Feb 04, 2017 11:37 PM IST

0
चुनाव आयोग ने पीएम के आगे घुटने टेके: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग को 'रीढ़ विहीन' करार देते हुए शनिवार को आरोप लगाया कि आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगे पूरी तरह घुटने टेक दिए हैं.

केजरीवाल की टिप्पणी उन खबरों के प्रतिक्रियास्वरूप आई है, जिनमें कहा गया है कि लोग पार्टी के चुनाव चिह्न और अन्य प्रचार सामग्रियों के साथ चुनाव के दिन मतदान केंद्रों पर जा रहे हैं और मतदान के दिन सोशल मीडिया और टीवी पर प्रचार कर रहे हैं.

केजरीवाल ने कहा, ‘आरबीआई और सीबीआई की तरह ही चुनाव आयोग ने भी मोदीजी के समक्ष पूरी तरह घुटने टेक दिए हैं.’

केजरीवाल ने कहा, ‘यह बिल्कुल बेशर्म और रीढ़ विहीन चुनाव आयोग है.’

केजरीवाल ने कहा, ‘जिस प्रकार मोदीजी ने आरबीआई को बर्बाद कर दिया, उसी प्रकार उन्होंने चुनाव आयोग में अपने साथियों को नियुक्त करके आयोग को भी बर्बाद कर दिया है.’

केजरीवाल के राजनीतिक दलों से पैसा लेने को लेकर दिए गए बयान के बाद से चुनाव आयोग और उनके बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है.

चुनाव आयोग के निर्देश पर केजरीवाल के खिलाफ पिछले महीने प्राथमिकी भी दर्ज हुई थी. केजरीवाल ने गोवा में चुनाव प्रचार के दौरान नागरिकों से कहा था कि 'दूसरे राजनीतिक दल पैसा दें तो ले लें, लेकिन वोट सिर्फ आप को दें.'

केजरीवाल ने चुनाव आयोग से कहा कि इसी तरह का बयान देने के लिए रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने में भी इतनी ही तत्परता दिखाएं.

गोवा में एक घंटा पहले मतदान क्यों?

केजरीवाल ने यह भी कहा कि गोवा में पंजाब से एक घंटा पहले ही मतदान क्यों शुरू करवाया गया, जबकि दोनों राज्यों में मतदान समाप्त होने का समय एक ही रखा गया था.

केजरीवाल ने कहा, ‘चुनाव आयोग की अधिसूचना के अनुसार, गोवा में मतदान सुबह 7.0 बजे से शाम 5.0 बजे तक होना था, जबकि पंजाब में सुबह 8.0 बजे से शाम 5.0 बजे तक. आखिर क्यों?’

केजरीवाल ने नोटबंदी को लेकर भी मोदी पर एकबार फिर निशाना साधा.

उन्होंने कहा, ‘मोदीजी ने कहा था कि नोटबंदी से कालेधन पर लगाम लग जाएगी. लेकिन पंजाब और गोवा में यह खुलेआम बांटा जा रहा है. फिर नोटबंदी का क्या लाभ है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi