S M L

पटना: नौकरी चाहिए तो देना होगा वर्जिनिटी का हलफनामा

ये हलफनामा अस्पताल में नौकरी ज्वाइन करने के वक्त मांगे गए

FP Staff Updated On: Aug 02, 2017 05:30 PM IST

0
पटना: नौकरी चाहिए तो देना होगा वर्जिनिटी का हलफनामा

बिहार की राजधानी पटना में स्थित राज्य के सबसे बड़े अस्पतालों में शुमार आईजीआईएमएस का अजीबोगरीब घोषणापत्र ईटीवी/ न्यूज18 के हाथ लगा है. इस घोषणा पत्र को आईजीआईएमएस के हर कर्मचारी से लेकर अधिकारियों को पालन करना होता है. आईजीआईएमएस के घोषणापत्र में आपत्तिजनक शब्द दिए गए हैं.

महिला हों या पुरुष, कर्मचारी को इस घोषणा पत्र को भरना है

-आप बैचलर हैं /आप विडोअर हैं /आप वर्जिन हैं

-मैं शादीशुदा हूं और मेरी एक ही पत्नी है/

-मैं शादीशुदा हूं मेरी एक से ज्यादा पत्नियां नहीं है

-मैं शादीशुदा हूं और मेरी एक से ज्यादा पत्नियां हैं.

ये हलफनामा अस्पताल में नौकरी ज्वाइन करने के वक्त मांगे गए. समाजसेवी और अधिवक्ता सुमन लाल ने इसे पूरी तरह से गलत करार दिया है. उनका कहना है कि मैटेरियल डिक्लेशन में कोई गलत नही हैं लेकिन किसी की वर्जिनिटी के बारे में पूछना मानवाधिकार का साफ उल्लंघन है. यह असंवैधानिक के साथ इंसल्टिंग भी है.

वहीं, आईजीआईएमएस के शासी निकाय के सदस्य डॉ सुनील कुमार सिंह ने भी इसे आपत्तिजनक घोषणा पत्र बताया और कहा कि अस्पताल से इस संबंध में बात करूंगा और हर हाल में इसमें सुधार की जरूरत है.

igims-234

उधर, आईजीआईएमएस के अधीक्षक डॉ मनीष मंडल की दलीलें सुनिए जो इसे केंद्र सरकार का नियम बता रहे हैं और इसका पालन करना अपना कर्तव्य कह रहे हैं. वहीं वर्जिन शब्द को लेकर सवाल पूछने पर उन्होंने कहा कि रेप केस में नाम आने पर परेशानी ना हो इसलिए वर्जिन शब्द दिया गया है.

उधर, बिहार के स्वास्थय मंत्री मंगल पांडेय का कहना है कि इस डिक्लेरेशन में कुछ भी गलत नहीं है और यह पहले से चलता आ रहा है.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi