S M L

रेल यात्रियों की जेब पर पड़ेगा GST से बोझ, बढ़ेगा किराया

जीएसटी का असर एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों की जेब पर पड़ेगा

FP Staff | Published On: Jun 08, 2017 12:34 PM IST | Updated On: Jun 08, 2017 12:44 PM IST

रेल यात्रियों की जेब पर पड़ेगा GST से बोझ, बढ़ेगा किराया

बढ़ते रेल किराये से परेशान यात्रियों को एक और झटका लगने वाला है. इस बार रेल का किराया बढ़ने को लेकर 1 जुलाई, 2017 से लागू होने वाला जीएसटी जिम्मेदार है.

जीएसटी का असर एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों की जेब पर पड़ेगा, क्योंकि स्लीपर, अनारक्षित और लोकल यात्रियों को इससे बाहर रखा गया है. हालांकि ये बढ़ोतरी महज 0.5 प्रतिशत की होगी पर फिर भी रेल यात्रियों को इससे फर्क जरूर पड़ेगा.

चेयर कार वालों को भी देना पड़ेगा बढ़ा हुआ किराया

एसी फर्स्ट, सैकेंड और थ्री टियर के साथ-साथ चेयर कार में यात्रा करने वाले यात्रियों को जीएसटी के तहत पहले के मुकाबले अधिक किराया भरना होगा. टाइम्स ऑफ इंडिया पर छपी खबर के मुताबिक, भारतीय रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि पहले एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को किराये के 30 फीसदी हिस्से पर 14.5 फीसदी टैक्स देना पड़ता था, जो गणना में कुल किराए का लगभग 4.5 फीसदी पड़ता था.

कितना पड़ेगा फर्क

जीएसटी लागू होने के बाद में रेल किराए के 30 फीसदी हिस्से पर 14.5 फीसदी टैक्स के बजाए 15 फीसदी टैक्स लगेगा. टैक्स की रकम कुल किराए का करीब 5 फीसदी होगी.

इसके अलावा जिन यात्रियों ने चार महीने पहले टिकट बुक कराया था उनसे भी जीएसटी वसूला जाएगा. साथ ही ट्रेन व स्टेशनों पर खाना-पीना भी जीएसटी के कारण एक जुलाई से महंगा होने वाला है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi