S M L

डेंगू, चिकनगुनिया से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने सरकारी अस्पतालों को दिए निर्देश

दिल्ली सरकार ने सभी सरकारी अस्पतालों को 10-20 प्रतिशत बेड सुरक्षित रखने का दिया निर्देश

Bhasha | Published On: May 13, 2017 06:56 PM IST | Updated On: May 13, 2017 06:56 PM IST

0
डेंगू, चिकनगुनिया से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने सरकारी अस्पतालों को दिए निर्देश

दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में डेंगू और चिकनगुनिया के संक्रमण के खतरे को देखते हुए सभी सरकारी अस्पतालों को 10 से 20 प्रतिशत बिस्तर सुरक्षित रखने को कहा है. जिससे इस तरह के मौसमी बुखार से पीड़ित मरीजों को तुरंत इलाज की सुविधा मुहैया कराई जा सके.

बिस्तर सुरक्षित रखने के दायरे में निजी अस्पतालों को भी लाया जाएगा. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में शनिवार को स्वास्थ्य और अन्य संबद्ध विभागों की समीक्षा बैठक में अस्पतालों और सिविक एजेंसियों को जरूरी दिशा निर्देश जारी किए गए.

बैठक में शामिल उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि बैठक में डेंगू और चिकनगुनिया का संक्रमण रोकने के लिए सभी विभागों द्वारा किए गए एहतियाती उपायों की रिपोर्ट की समीक्षा की गई. इसमें पिछले साल बनाए गए 400 फीवर क्लीनिक की तर्ज पर इस साल भी फीवर क्लीनिक बनाने को कहा है.

दिल्ली को मच्छर मुक्त बनाने के लिए सरकार तैयार

सिसोदिया ने बताया कि बैठक में केजरीवाल ने स्वास्थ्य विभाग और सिविक एजेंसियों को आपसी सामंजस्य से दिल्ली को मच्छर मुक्त बनाने के लिए एक प्रभावी कार्ययोजना बनाने का निर्देश दिया जिससे राष्ट्रीय राजधानी को पूरी तरह से मच्छर मुक्त बनाया जा सके.

इसमें एनसीआर के पड़ोसी राज्यों को भी शामिल करने को कहा है. सिसोदिया ने कहा कि हर साल जुलाई-अगस्त में डेंगू और चिकनगुनिया फैलने के खतरे को देखते हुए सरकार ने अभी से इस संभावित समस्या के उपजने से रोकने के इंतजाम किए हैं.

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा ‘दिल्ली को मच्छरों से मुक्त करना है. मच्छरों से होने वाली बीमारियों से मुक्ति दिलानी है. इसे जनआंदोलन बनाना होगा. जनभागीदारी से ये संभव है. डेंगू और चिकुनगुनिया से निपटने के लिए आज सभी अधिकारियों की बैठक ली. सब मिलकर काम करेंगे तो ये संभव है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi