S M L

हाईकोर्ट ने सीआरपीएफ से जवान का आत्मसमर्पण स्वीकार करने को कहा

छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह की आलोचना की थी

Bhasha | Published On: May 05, 2017 09:04 PM IST | Updated On: May 05, 2017 09:04 PM IST

हाईकोर्ट ने सीआरपीएफ से जवान का आत्मसमर्पण स्वीकार करने को कहा

दिल्ली हाईकोर्ट ने सीआरपीएफ के प्रमुख से अपने उस जवान का आत्मसमर्पण स्वीकार करने को कहा जो सुकमा हमले को लेकर सोशल मीडिया पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह की आलोचना करने के बाद अपने बटालियन से भाग गया था.

जस्टिस आशुतोष कुमार ने सीआरपीएफ से कानून के अनुरूप जवान के मामले से निपटने को भी कहा.

अदालत ने पंकज कुमार मिश्रा नाम के जवान द्वारा लिखे पत्र पर यह आदेश दिया. उसने पत्र में अनुरोध किया था कि आत्मसमर्पण करने के बाद उसकी नुकसान से हिफाजत की जाए.

जवान ने फेसबुक पर वीडियो में गृह मंत्री की आलोचना की थी

छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में अपना एक परिजन खोने का दावा करने वाले जवान ने घटना के कुछ दिनों बाद फेसबुक पर डाले गए एक वीडियो में गृह मंत्री की कड़ी आलोचना की थी. वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. हमले में सीआरपीएफ के 25 कर्मी शहीद हुए थे.

पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में सीआरपीएफ की 221 बटालियन में तैनात मिश्रा ने अपने पत्र में दावा किया था कि वह इसलिए भागा क्योंकि उसे हिरासत में रखा जा रहा था और उसे अपनी जान का खतरा महसूस हुआ.

पॉपुलर

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi