S M L

अमरनाथ आतंकी हमला: कश्मीरी आतंकियों ने तोड़ा 15 साल पुराना वादा

15 साल पुराने अलिखित वादे में यात्रियों पर हमला नहीं करने की बात कहीं गई थी

FP Staff Updated On: Jul 11, 2017 01:37 PM IST

0
अमरनाथ आतंकी हमला: कश्मीरी आतंकियों ने तोड़ा 15 साल पुराना वादा

जम्‍मू-कश्‍मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले में 7 अमरनाथ यात्रियों की मौत हो गई. वहीं, तीन जवानों सहित 15 लोग जख्‍मी भी हुए हैं. बस अमरनाथ यात्रा से दर्शन के बाद लौट रही थी. इसके साथ ही कश्मीर में आतंकियों ने अपने 15 साल पुराने अपने अलिखित वादे को तोड़ दिया है. इसके मुताबिक, अमरनाथ यात्रियों पर हमला नहीं करने की बात कही गई थी.

अमरनाथ यात्रा कश्मीर में काफी विवाद का विषय रहा है. इसके बावजूद पिछले एक दशक से ज्यादा समय से यह आतंकी घटनाओं से दूर ही रहा.

बुरहान वानी का हुआ था वीडियो जारी

पिछले साल एक एनकाउंटर में मारे गए हिजबुल आतंकी बुरहान वानी का भी एक वीडियो जून में जारी हुआ था. जिसमें वह अमरनाथ यात्रियों को विश्वास दिला रहा था कि उन्हें आतंकियों द्वारा नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा. यही स्थिति आतंकियों ने सोमवार की सुबह तक बनाए रखी थी.

Amarnath_yatra

बढ़ेगा तनाव

सोमवार की शाम हुए आतंकी हमले के बाद कश्मीरियों के साथ ही कई लोगों का मानना है कि इससे कश्मीर और देश के दूसरे हिस्सों में तनाव बढ़ेगा. इससे पहले दर्शनार्थियों पर साल 2002 में बड़ा आतंकी हमला हुआ था. इसमें पहलगाम क्षेत्र में 9 दर्शनार्थियों की मौत हुई थी. तब लश्कर-ए-तैयबा ने हमले की जिम्मेदारी ली थी.

हिजबुल का लिया गया सहारा

इस बार लश्कर-ए-तैयबा ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के लोकल आतंकियों का सहारा लेते हुए वारदात को अंजाम दिया. इस दावे को उस फोटोग्राफ से बल मिलता है, जिसमें दोनों संगठनों के आतंकी एक साथ नजर आए.

सूत्रों के अनुसार, शायद यह पहली बार हुआ कि अमरनाथ यात्रियों पर हमले में कश्मीर के सबसे बड़े आतंकी ग्रुप हिजबुल मुजाहिद्दीन का हाथ हो. यह हमला घाटी में कर्फ्यू और सोशल मीडिया से बैन हटने के कुछ घंटे बाद हुआ.

साभार न्यूज़ 18

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi