विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

NIA के छापे पर तिलमिलाए अलगाववादियों ने दी गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी

एनआईए ने अलगाववादियों के कश्मीर, हरियाणा और दिल्ली के 23 ठिकानों पर छापेमारी की.

Bhasha Updated On: Jun 04, 2017 10:27 AM IST

0
NIA के छापे पर तिलमिलाए अलगाववादियों ने दी गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी

कश्मीर में एनआईए के छापे की अलगाववादियों ने निंदा की है. अलगाववादी धड़े ने केंद्र सरकार के ऐसे ‘मनमाने कदम’ के खिलाफ ‘गंभीर परिणाम’ और सड़कों पर प्रदर्शन करने की धमकी दी है.

कश्मीर घाटी में विध्वंसक गतिविधियां चलाने के लिए अलगाववादी समूहों द्वारा कथित रूप से धन हासिल करने के मामले में एनआईए ने कश्मीर, हरियाणा और दिल्ली के 23 स्थानों पर छापेमारी की.

हुर्रियत कांफ्रेंस के दोनों धड़ों के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी और मीरवाईज उमर फारूक और जेकेएलएफ के अध्यक्ष यासीन मलिक ने इस मामले पर एक संयुक्त बयान जारी किया है. बयान में कहा है कि एनआईए द्वारा की जा रही छापेमारी और इसको लेकर सनसनी फैलाने का काम भारत सरकार का सिर्फ हताशाजनक प्रयास है.

बयान में कहा गया है, ‘हम दिल्ली को चेतावनी देते हैं कि अगर इन चीजों को नहीं रोका गया तो इसके गंभीर परिणाम होंगे. अगर ये अनावश्यक छापेमारी नहीं बंद की गई तो लोग सड़कों पर उतरेंगे और पूरी ताकत और इच्छाशक्ति से इन मनमाने उपायों का विरोध करेंगे.’

NIA ने 23 जगहों पर की छापेमारी

एनआईए के छापे में बेहिसाब धन संबंधी दस्तावेज, दो करोड़ रूपये नगद और प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के लेटरहैड बरामद किए गए.

पिछले चार दिन की गहन योजना के बाद एनआईए की विभिन्न टीमों ने कश्मीर, दिल्ली और हरियाणा के सोनीपत में शनिवार तड़के 23 जगहों पर अलगाववादियों, व्यापारियों और हवाला डीलरों के परिसरों पर समानांतर रूप से छापेमारी शुरू की.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि छापेमारी के दौरान अलगाववादियों और उनसे सहानुभूति रखने वालों के ठिकानों से दो करोड़ रपये की नकदी, संपत्ति दस्तावेज, लश्कर ए तैयबा और हिजबुल मुजाहिदीन जैसे प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के लेटरहैड बरामद हुए.

उन्होंने बताया कि एनआईए ने कश्मीर, दिल्ली और हरियाणा में आरोपियों के ठिकानों से पेन ड्राइव, लैपटॉप और अन्य दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

सूत्रों ने बताया कि विभिन्न ठिकानों से सोने के 85 सिक्के और आभूषण भी जब्त किए गए हैं.

इस सप्ताह के शुरू में प्राथमिकी दर्ज करने के बाद घाटी में कुछ दिन से डेरा डाले बैठीं विभिन्न एनआईए टीम भारी सुरक्षा के बीच श्रीनगर शहर के बाहरी इलाके हुमहमा स्थित अपने शिविर कार्यालय से कश्मीर के विभिन्न जगहों के लिए रवाना हुईं.

जिन लोगों के यहां छापेमारी हुई उनमें कट्टरपंथी नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद अलताफ फंटूश, व्यापारी जहूर वाटाली, मीरवाइज उमर फारूक के नेतृत्व वाली आवामी एक्शन कमेटी के नेता शाहिद-उल-इस्लाम और कुछ दूसरे अलगाववादी नेता हैं, जो हुर्रियत के दोनों धड़ों और जेकेएलएफ से जुड़े हैं.

पहली बार अलगाववादियों की अर्थव्यवस्था पर चोट

घाटी में 1990 के दशक की शुरूआत में आतंकवाद पनपने के बाद यह पहला मौका है, जब किसी केंद्रीय जांच एजेंसी ने अलगाववादियों की फायनेंसियल नेटवर्क पर छापेमारी की है. इस रकम का इस्तेमाल घाटी में विध्वंसक गतिविधियों के लिये किया जा रहा था. इससे पहले वर्ष 2002 में आयकर विभाग ने गिलानी समेत हुर्रियत नेताओं के ठिकानों पर छापे मारे थे और नकदी और दूसरे दस्तावेज जब्त किये थे. हालांकि तब कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं किया गया था.

एनआईए द्वारा दर्ज प्राथमिकी में घाटी के किसी अलगाववादी नेता का नाम नहीं है लेकिन इसमें हुर्रियत कॉन्फ्रेंस (गिलानी और मीरवाइज उमर फारूक धड़े ) हिजबुल मुजाहिदीन, दुख्तरान-ए-मिल्लत और लश्कर-ए-तैयबा के अलावा पाकिस्तान स्थित जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद का जिक्र है.

एनआईए ने पहले इस मामले में प्रारंभिक जांच रिपोर्ट दर्ज की थी लेकिन बाद में इसे नियमित जांच में बदल दिया था. जांच एजेंसी ने राजधानी में आठ हवाला डीलरों और कारोबारियों पर छापेमारी के साथ ही हरियाणा के सोनीपत में भी दो जगहों पर छापेमारी की.

छापेमारी की कार्रवाई तीन अलगाववादियों- नईम खान, फारूक अहमद डार उर्फ ‘बिट्टा कराते’ और तहरीक-ए-हुर्रियत के गाजी जावेद बाबा से पिछले महीने दिल्ली में पूछताछ के बाद हुई है. नईम खान टीवी पर एक स्टिंग ऑपरेशन के दौरान पाकिस्तान स्थित आतंकी समूहों से धन प्राप्त करने की बात को कथित तौर पर स्वीकार करते हुए दिखा था.

सूत्रों ने बताया कि इन लोगों के घरों की तलाशी भी ली गई.

अलगाववादी पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद से घाटी में सुरक्षाबलों पर पथराव करने, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और स्कूलों और अन्य सरकारी प्रतिष्ठिानों को जलाने सहित विध्वंसक गतिविधियों के लिए कथित तौर पर धन प्राप्त कर रहे थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi