विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

राम मंदिर विवाद सुलझाने के लिए मध्यस्थ बनेंगे श्री श्री रविशंकर!

FP Staff Updated On: Oct 28, 2017 02:19 PM IST

0
राम मंदिर विवाद सुलझाने के लिए मध्यस्थ बनेंगे श्री श्री रविशंकर!

द आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन के संस्थापक और आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रवि शंकर की फाउंडेशन ने शुक्रवार को एक बयान में कहा था कि श्री रविशंकर बहुचर्चित राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद के बीच दोनों पक्षों के बीच मध्यस्थता कर रहे हैं. लेकिन अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने कथित तौर पर रविशंकर के साथ किसी बैठक से इनकार कर दिया.

फाउंडेशन की ओर से कहा गया था कि श्री रविशंकर निर्मोही अखाड़े के बाबा रामदास के अलावा दोनों पक्षों के इमामों और स्वामी-संतों के साथ संपर्क में हैं. द आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन ने कहा है कि कोई निष्कर्ष निकालना बहुत जल्दबाजी होगा और सरकार की ओर ऐसी किसी चर्चा की पहल नहीं की गई है.

आध्यात्मिक गुरू ने एएनआई से कहा कि वो मध्यस्थता करने को इच्छुक हैं. उन्होंने कहा कि वो अपनी तरफ से ऐसी कोशिश करना चाहते हैं और इसके पीछे कोई राजनीति नहीं है.

उन्होंने कहा, 'इससे पहले 2003-04 में भी कोशिशें हुए थी लेकिन आज माहौल ज़्यादा सकारात्मक हैं. मैं अपनी क्षमता के हिसाब से काम कर रहा हूं. यह गैर-राजनीतिक है.'

रविशंकर ने कहा, 'कुछ लोग मुझसे मिलने आए थे बस. दोनों समुदायों को एक मंच की जरूरत है जहां वे भाईचारे के साथ इस मुद्दे पर चर्चा कर सकें और सौहार्द दिखा सकें.' उन्होंने यह भी कहा कि अब परिस्थितियां बदल चुकी हैं और लोग शांति चाहते हैं.

एआईएमपीएलबी ने कथित तौर पर रविशंकर के साथ किसी बैठक से इनकार कर दिया है. बोर्ड ने शुक्रवार को कहा कि अगर रविशंकर बात करना चाहते हैं तो वे तैयार हैं, क्योंकि उनसे बातचीत करने और समाधान खोजने में मदद करने में बोर्ड को कोई समस्या नहीं है.

विवादित स्थल को लेकर अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 5 दिसंबर को होनी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi