S M L

सुप्रीम कोर्ट ने सहारा-बिरला डायरी केस खारिज किया

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आयकर छापे में पकड़े गए दस्तावेजों के आधार पर जांच नहीं होगी

FP Staff | Published On: Jan 11, 2017 04:33 PM IST | Updated On: Jan 11, 2017 05:12 PM IST

0
सुप्रीम कोर्ट ने सहारा-बिरला डायरी केस खारिज किया

सुप्रीम कोर्ट ने सहारा-बिरला केस डायरी मामले को खारिज कर दिया. इस मामले में सीधे प्रधानमंत्री मोदी को आरोपों के घेरे में लिया गया था. एक एनजीओ ने इस मामले की जांच आगे बढ़ाने की मांग रखी थी. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की जांच करवाने की मांग ठुकरा दी.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आयकर छापे में पकड़े गए दस्तावेजों के आधार पर जांच नहीं होगी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मामले को आगे बढ़ाने के लिए पुख्ता सबूत नहीं हैं.

कहा जा रहा था कि आयकर विभाग की सहारा पर छापेमारी में एक डायरी हाथ लगी थी. जिसमें तब के गुजरात के मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी का नाम दर्ज था. इसी को आधार मानकर कहा जा रहा था कि सहारा ने नरेंद्र मोदी को रिश्वत दी थी. कांग्रेस ने इस मामले में सरकार की खिंचाई भी की थी.

सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता के वकील की तरफ से कहा गया कि इस मामले के सबूतों के आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जा सकता है.

इस मामले में एजी मुकुल रोहतगी ने सरकार का पक्ष रखा. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस मामले में कोई भी सबूत ऐसा नहीं है जिसके हवाले से ये कहा जा सके कि उस वक्त के गुजरात के सीएम रहे नरेंद्र मोदी को रिश्वत दी गई.

मुकुल रोहतगी ने कहा कि जिन पन्नों को आधार बनाकर जांच की अनुमति की मांग की जा रही है अगर उनको सबूत मानकर मामले को आगे बढ़ाया जाता है तो फिर देश का एक आदमी भी सुरक्षित नहीं रहेगा. हर किसी पर एक न एक मामला दर्ज हो जाएगा.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi