S M L

याकूब की फांसी को लेकर गोपालकृष्ण गांधी पर शिवसेना का हमला

गांधी ने 2015 में याकूब मेमन के फांसी की सजा पर फिर से विचार करने को कहा था.

FP Staff Updated On: Jul 17, 2017 12:04 PM IST

0
याकूब की फांसी को लेकर गोपालकृष्ण गांधी पर शिवसेना का हमला

17 जुलाई यानी आज देश के अगले राष्ट्रपति के चुनाव के लिए संसद में मतदान जारी है. वहीं देश के अगले उपराष्ट्रपति के लिए चुनाव 5 अगस्त को होना है.

विपक्ष ने उपराष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार के तौर पर महात्मा गांधी के पोते गोपालकृष्ण गांधी का नाम आगे किया है. जेडीयू सहित तमाम विपक्षी पार्टियों ने गांधी के नाम का समर्थन किया है.

और अब एक विरोध का स्वर भी उभरा है. शिवसेना के सांसद संजय राउत ने गांधी की उम्मीदवारी को विवादों के घेरे में ला दिया है.

संजय राउत ने कहा है कि 'गोपालकृष्ण गांधी ने याकूब मेमन की फांसी की सजा का विरोध किया था. वो देशद्रोही हैं. सोनिया गांधी ने एक देशद्रोही का नाम उपराष्ट्रपति के लिए आगे किया है.'

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस एंटी-इंडिया विचारधारा को बढ़ावा देती है.

दरअसल, 29 जुलाई, 2015 को गांधी ने याकूब मेमन की खारिज दया याचिका पर फिर से विचार करने के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पत्र लिखा था.

उनके इस बयान के बाद गांधी की उम्मीदवारी पर कांग्रेस को विरोध का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि गांधी की उम्मीदवारी की घोषणा हुए 1 हफ्ते हो चुके हैं, इसके बाद ये मसला उठाया गया है.

फिलहाल संसद में सत्ता पक्ष के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार के बीच राष्ट्रपति पद के लिए मतदान जारी है. कोविंद को 70% वोट मिलने की उम्मीद है. वहीं मीरा कुमार को 17 विपक्षी पार्टियों का साथ मिला हुआ है. क्रॉस वोटिंग पर भी नजर है क्योंकि ये समीकरण बिगाड़ सकती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi