S M L

पद्म विभूषण वैज्ञानिक प्रोफेसर यशपाल का निधन

वैज्ञानिक और एकेडमिशियन पद्म विभूषण प्रोफेसर यशपाल का मंगलवार को निधन हो गया.

FP Staff Updated On: Jul 25, 2017 01:17 PM IST

0
पद्म विभूषण वैज्ञानिक प्रोफेसर यशपाल का निधन

वैज्ञानिक और एकेडमिशियन पद्म विभूषण प्रोफेसर यशपाल का मंगलवार को निधन हो गया. वह नोएडा में रह रहे थे. देश के बड़े वैज्ञानिकों में से एक यशपाल का जन्म 26 जनवरी 1926 में हुआ था.

प्रोफेसर यशपाल ने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से फिजिक्स में पीएचडी की डिग्री हासिल की थी. इसके बाद उन्होंने अपने करियर की शुरुआत टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटर रिसर्च से की. साल 1973 में भारत सरकार ने उन्हें स्पेस एप्लीकेशन सेंटर का पहला डॉयरेक्टर नियुक्त किया था.

प्रोफेसर यशपाल को कौस्मिक किरणों पर रिसर्च के लिए भी जाना जाता है. टीवी पर भी वह विज्ञान से जुड़े कार्यक्रम को लेकर आया करते थे. वह विज्ञान से जुड़े मुश्किल तथ्यों को भी आसान से आसान शब्दों में प्रस्तुत करने के लिए जाने जाते थे. विज्ञान को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभाने पर यूनेस्को ने उन्हें कलिंग सम्मान भी दिया था.

प्रोफेसर यशपाल को साल 1976 में पद्मभूषण सम्मान मिला था. इसके बाद साल 2013 में उन्हें पद्मविभूषण मिला. साल 1983-84 में वह योजना आयोग के मुख्य सलाहकार थे. वहीं, 1986 से 1991 तक यूजीसी के चेयरमैन रहे. साल 2007 से 2012 तक वह जेएनयू के चांसलर भी रहे.

बता दें कि जब एनसीईआरटी ने नेशनल करीकुलम फ्रेमवर्क बनाया तो वह उसके चेयरपर्सन थे. वह दूरदर्शन पर टर्निंग पाइंट नाम से एक साइंटिफिक प्रोग्राम को भी होस्ट करते थे.

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi