S M L

उर्जित पटेल एक्सक्लूसिव इंटरव्यू: नोटबंदी का दूरगामी असर दिखेगा

नेटवर्क 18 के ग्रुप एडिटर राहुल जोशी के साथ उर्जित पटेल की बातचीत.

FP Staff | Published On: Feb 17, 2017 09:04 AM IST | Updated On: Feb 17, 2017 01:02 PM IST

0
उर्जित पटेल एक्सक्लूसिव इंटरव्यू: नोटबंदी का दूरगामी असर दिखेगा

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा है कि हर कोई इससे सहमत है कि नोटबंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था साफ हुई है. इसका दूरगामी असर देखने को मिलेगा. नोटबंदी सिर्फ 500 और 1000 के पुराने नोटों को ही बंद करना नहीं था. इसके कई और उद्देश्य थे. इससे अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी.

मोदी सरकार ने 8 नवंबर की रात नोटंबदी का एलान किया था और हाल ही में इसके 100 दिन पूरे हुए हैं. आरबीआई गवर्नर ने कहा कि सरकार जल्द ही बढ़ती महंगाई पर काबू पा लेगी. इसके लिए कई कदम उठाए गए हैं और अगले कुछ दिनों में महंगाई दर चार फीसदी तक जरूर आ जाएगी.

urjit-patel

नेटवर्क 18 के ग्रुप एडिटर राहुल जोशी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में उर्जित पटेल ने कहा कि महंगाई में बढ़ोत्तरी ईंधन की कीमतें बढ़ने से हुई है. उन्होंने माना कि नोटबंदी से कुछ सामानों की कीमतों पर जरूर असर पड़ा है. ऐसे में हमें महंगाई दर को 4 फीसदी तक ही रखना होगा, जिससे आम लोगों की जिंदगी बेहतर हो सके.

आरबीआई के गवर्नर पद का कार्यभार संभालने के बाद उर्जित पटेल ने पहली बार किसी टीवी चैनल को इंटरव्यू दिया है. इस इंटरव्यू को आप शुक्रवार सुबह 8 बजे व 11 बजे और रात 8.30 बजे व 10 बजे सीएनबीसी टीवी-न्यूज18 पर देख सकते हैं.

इस इंटरव्यू में पटेल ने कहा कि दुनियाभर में कमॉडिटी की कीमतों में उछाल का भी भारतीय अर्थव्यवस्था पर असर पड़ा है. हमें उम्मीद है कि पहली छमाही में महंगाई दर 4.5 से 5 फीसदी के बीच रहेगी. वैसे हमारा पहला उद्देश्य महंगाई दर को 4 फीसदी के भीतर ही रखना है.

गौरतलब है कि जनवरी में थोक महंगाई दर में बढ़ोतरी देखने को मिली और ये 30 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई थी. जनवरी में थोक महंगाई दर बढ़कर 5.25 फीसदी पर पहुंच गई. दिसंबर में थोक महंगाई दर 3.39 फीसदी रही थी.

इंडियन इकॉनमी की मजबूती पर उन्होंने कहा कि हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं. हमारा निर्यात बढ़ा है. बजट में रियल्टी, हाउसिंग और ग्रामीण इलाकों पर फोकस किया गया. इसका असर भी दिखने लगा है. पहली छमाही में निजी निवेश में इजाफा हुआ है. जीडीपी के आंकड़ों को लेकर कुछ सवाल उठ रहे हैं, लेकिन इसको लेकर कोई चिंता की बात नहीं है.

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपए की कमजोर सेहत पर आरबीई गवर्नर ने कहा कि हम इसके लिए कदम उठा रहे हैं. यह कुछ दिनों की ही बात है. जल्द ही रुपया अपनी रफ्तार पकड़ लेगी.

(साभार न्यूज18 इंडिया)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi