S M L

रोहिंग्या मुस्लिमों को भारत में शरण नहीं, देश के लिए खतरा: राजनाथ

गृहमंत्री ने कहा कि रोहिंग्याओं के मुद्दे पर म्यांमार से बात हुई है. म्यांमार इन्हें वापस लेने को तैयार है

FP Staff Updated On: Sep 21, 2017 01:26 PM IST

0
रोहिंग्या मुस्लिमों को भारत में शरण नहीं, देश के लिए खतरा: राजनाथ

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि किसी भी रोहिंग्या को भारत में शरण नहीं मिलेगी. म्यांमार से घुसे लोग शरणार्थी नहीं हैं. गृहमंत्री ने कहा कि रोहिंग्याओं के मुद्दे पर म्यांमार से बात हुई है. म्यांमार इन्हें वापस लेने को तैयार है. रोहिंग्या देश की सुरक्षा के लिए खतरा हैं.

उन्होंने कहा कि इनमें से कुछ लोगों के आतंकवाद से जुड़ने के सबूत मिले हैं. भारत यदि रोहिंग्या को वापस भेजे जाने की बात करता है तो लोगों को आपत्ति क्यों है?

इससे पहले म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू ची ने कहा था, रोहिंग्या समूहों ने म्यांमार पर हमले कराए हैं. म्यांमार ने उन्हें संरक्षण दिया, लेकिन इसका नतीजा क्या निकला. जो लोग म्यांमार वापस आना चाहते हैं, उनके लिए रिफ्यूजी वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इन्द्रेश कुमार ने रोहिंग्या मुसलमानों को भारत में शरण देने के मुद्दे पर कहा कि ये अराजकतावादी और अपराधी हैं. उन्हें कोई भी देश अपनाने को तैयार नहीं है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर रोहिंग्या मुसलमानों को वापस भेजने के नाम पर परेशान करने का आरोप लगाया है. उन्होंने ये कहा कि हर रोहिंग्या मुस्लिम आतंकी नहीं है. उन्हें वापस नहीं भेजना चाहिए. आंग सान सू ची ने कहा था, रोहिंग्या समूहों ने म्यांमार पर हमले कराए. म्यांमार ने उन्हें संरक्षण दिया, लेकिन इसका नतीजा क्या निकला. जो लोग म्यांमार वापस आना चाहते हैं, उनके लिए रिफ्यूजी वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

(साभार न्यूज 18) 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi