विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

रेल दुर्घटनाओं और खराब परफॉरमेंस से पीएमओ नाराज

रेल मंत्रालय से पीएमओ लगातार हो रही ट्रेन दुर्घटनाओं और खराब कार्यप्रणाली के कारण नाराज है

FP Staff Updated On: Feb 22, 2017 10:40 PM IST

0
रेल दुर्घटनाओं और खराब परफॉरमेंस से पीएमओ नाराज

प्रधानमंत्री कार्यालय यानी पीएमओ रेल मंत्रालय के कामकाज से नाराज है. पीएमओ ने रेल मंत्रालय को लिखे पत्र में अपनी नाराजगी जताई है.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु के रेल मंत्रालय से पीएमओ लगातार हो रही ट्रेन दुर्घटनाओं और खराब कार्यप्रणाली के कारण नाराज है.

डीएनए में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक 31 जनवरी को लिखे गए पत्र में, पीएमओ ने पिछले साल हुए ट्रेन हादसों पर हैरानी जताई जिसमें करीब 225 लोगों ने अपनी जान गंवाई.

हालांकि रेलवे द्वारा ‘सुविधाओं का आधुनिकीकरण’ पूरा न करने को लेकर भी पीएमओ नाराज है, उसके अनुसार इस क्षेत्र में अब तक कुछ नहीं हुआ है.

पीएमओ ने नाखुशी जाहिर करते हुए कहा कि रेल विभाग ने पिछले दो साल में कई लक्ष्‍यों को पूरा नहीं किया.

अगले साल बजट में पैसे के लिए रेलवे को वजह बतानी होगी 

इस पत्र में कहा गया है, 'सरकार का फोकस रेलवे में सुविधाओं के आधुनिकीकरण और विकास पर है. 2016 तक की प्रगति की समीक्षा करते हुए, 1500 किलोमीटर की रेलवे ट्रैक डबलिंग के लक्ष्‍य के मुकाबले सिर्फ 531 किमी ट्रैक ही डबल किया जा सका है.'

पीएमओ के पत्र में कहा गया है कि रेल मार्गों के इलेक्ट्रीफिकेशन के 2000 आरकेएम के लक्ष्‍य के मुकाबले रेलवे ने सिर्फ 1,210 किमी पर ही काम पूरा किया है.

यह पत्र रेलवे बोर्ड के वरिष्ठ पदाधिकारी एके मित्‍तल को लिखा गया है. इस पत्र में पीएमओ ने चेतावनी देते हुए कहा है कि ‘रेलवे को अगले बजट (2018 के लिए) में ज्‍यादा राशि दिए जाने की वजह’ बतानी होगी.'

इस साल के रेल बजट में, वित्‍त मंत्रालय ने विभाग को 1,31,000 करोड़ रुपए की भारी-भरकम राशि दी गई है. रेलवे को अन्‍य परिवहन मंत्रालयों जैसे सड़क और नागरिक उड्डयन से कहीं अधिक धन दिया गया है.

रेलवे ने सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया 

अपने पत्र में पीएमओ ने रेलवे द्वारा सुरक्षा पर बजट का बेहतर इस्‍तेमाल न करने का आरोप लगाया है. साल 2016 में ज्‍यादातर रेल हादसे बेहद व्‍यस्‍त रेलवे ट्रैक्‍स पर फ्रैक्‍चर की वजह से हुए.

फ्रैक्‍चर रेलवे ट्रैक्‍स की खराब मेंटेनेंस की वजह से होती है. रूट पर अन्‍य ट्रैक बिछाने, ड‍बलिंग से ट्रैक पर बोझ कम करने में मदद मिलती है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि रेलवे के प्रदर्शन से वित्‍तमंत्री अरुण जेटली भी नाखुश हैं.

रिपोर्ट में कहा गया है कि जेटली लगातार रेलवे से अपने प्रमुख काम- ट्रेनों को सुरक्षित तरीके से चलाने और सुविधाओं के आधुनिकीकरण पर ध्‍यान देने को कहते रहते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi