विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

कोटा का सबसे बड़ा हैंगिंग ब्रिज शुरु, जानिए ब्रिज की खास बातें

चंबल नदी पर 213.58 करोड़ रुपए की लागत से बना यह हैंगिग ब्रिज कोटा शहर का अब तक का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है

FP Staff Updated On: Aug 29, 2017 04:40 PM IST

0
कोटा का सबसे बड़ा हैंगिंग ब्रिज शुरु, जानिए ब्रिज की खास बातें

राजस्थान के कोटा शहर में मंगलवार को देश का अब तक का सबसे लंबा हैंगिंग ब्रिज शुरू हुआ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उदयपुर में रिमोट का बटन दबा कर इसका उद्घाटन किया.

चंबल नदी पर 213.58 करोड़ रुपए की लागत से बना यह हैंगिग ब्रिज कोटा शहर का अब तक का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है. इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री के उदयपुर दौरे के दौरान भव्य समारोह में हुआ. इस समारोह में कोटा के लोग भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीधे रूबरू होंगे और इसके लिए कोटा में विशेष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था की गई है.

देश के सबसे बड़े हैंगिंग ब्रिज को बनने में पूरे दस साल का समय लगा है. इसका निर्माण 2007 में चम्बल नदी पर शुरू हुआ था. लंबे इंतजार के बाद इस वर्ष इसका काम पूरा हो सका. पिछले सप्ताह ही इस पर ट्रायल के लिए यातायात शुरू किया गया और मंगलवार को पीएम मोदी के लोकार्पण के साथ पूरी तरह से जनता के लिए खोल दिया जाएगा.

ब्रिज के निर्माण में गई 48 मजदूरों की जान

ब्रिज के निर्माण के दौरान 2009 में इसका निर्माणाधीन पिल्लर गिर गया था और उसके नीचे दबने से 48 मजदूरों की मौत गई थी. इस हादसे के बाद से ब्रिज का काम और भी संभल कर किया गया. इसके चलते काम की रफ्तार भी कम हुई. हालांकि पिछले दो सालों से इसके काम में फिर तेजी आई और अब यह बनकर तैयार हो गया है.

ब्रिज पर लगा है सूचनाओं का आधुनिक सिस्टम

हैंगिंग ब्रिज विशेष सिस्टम लगाए गए हैं जो इस पर ट्रैफिक लोड बढ़ने की जानकारी कंट्रोल रूम तक पहुंचाते रहेंगे. साथ ही ऐसे इंस्ट्रूमेंट्स भी स्थपित किए गए हैं जो भारी बारिश, हवा, तूफान, चक्रवात, भूकंप की सूचनाएं भी कंट्रोल रूम तक पहुंचाएंगे.

क्या खास है इस ब्रिज में

  • इस ब्रिज में लगे केबल के भीतर एयरो डायनामिक स्ट्रैंड का बंच हैं जिससे तूफानी हवाएं भी इस पर बेअसर होंगी.
  • ब्रिज पर लगे स्ट्रैंड 15.7 एमएम मोटे हैं और इसकी स्ट्रैंथ 1860 मेगा पास्कल है.
  • जिन केबल पर ब्रिज टिका है उनकी न्यूनतम लंबाई 41 मीटर और अधिकतम लंबाई 179 मीटर है.
  • ये केबल 2 से 300 एमएम तक मोटी हैं.
  • केबल को जिस पायलॉन पर कसा गया है जो 80-80 मीटर ऊंचा है.
  • पायलॉन में 33 मीटर तक कांक्रीट का स्ट्रक्चर है और उसके ऊपर स्टील कांक्रीट के बॉक्स का कंपोजिट स्ट्रक्चर है.
देश का सबसे बड़ा और पांचवां हैंगिंग ब्रिज है

देश का सबसे बड़ा हैंगिंग ब्रिज है जिसकी लंबाई 1.4 किमी है. इसमें से 350 मीटर का हिस्सा हैंगिंग है. यह लंबाई देश के अन्य हैंगिंग ब्रिज से सर्वाधिक है.

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi