S M L

पनामा पेपर लीक: सुप्रीम कोर्ट ने एक महीने में केंद्र से मांगी रिपोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की अगली तारीख 18 अप्रैल तय की है

FP Staff Updated On: Mar 07, 2017 01:20 PM IST

0
पनामा पेपर लीक: सुप्रीम कोर्ट ने एक महीने में केंद्र से मांगी रिपोर्ट

पनामा पेपर लीक मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से मामले से संबंधित 6 एजेंसियों से रिपोर्ट की मांग की है. सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए 4 हफ्ते का वक्त दिया है. इस दौरान केंद्र इन 6 एजेंसियों की सीलबंद लिफाफे वाली रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में जमा करेंगी.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि लिफाफाबंद कवर में रिपोर्ट्स मिल जाने के बाद ही इस मामले की जांच का फैसला लिया जाएगा. मामले की अगली सुनवाई की तारीख 18 अप्रैल को तय की है.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पनामा पेपर लीक मामले में एसआईटी जांच का फैसला एजेंसियों से मिली रिपोर्ट्स को पढ़ने के बाद भी लिया जाएगा.

क्या है पनामा पेपर लीक मामला?

पनामा पेपर्स लीक के नाम से अमेरिका के कुछ खोजी पत्रकारों के एक एनजीओ ने कुछ अहम दस्तावेजों का खुलासा किया था. दस्तावेजों की गहरी छानबीन के बाद जांच में ढेरों फिल्मी और खेल जगत की हस्तियों के अलावा लगभग 140 राजनेताओं की छिपी हुई संपत्ति का खुलासा किया था.

पनामा के लॉ फर्म मोसैक फॉन्सेका से लीक हुए इन दस्तावेजों को लेकर दावा किया गया कि इनमें 500 भारतीय हस्तियों के नामों का जिक्र है. दावा किया गया कि उनमें से 300 नामों की पुष्टि भी की जा चुकी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi